20 हजार करोड़ का हो सकता है पीएनबी घोटाला

दिल्ली ब्यूरो: साढ़े 11 हजार करोड़ रुपये का पीएनबी घोटाला अब बढ़ कर 20 हजार करोड़ के पास पहुँचता दिख रहा है। आयकर विभाग की रिपोर्ट कुछ इसी तरह की बातें कहती दिख रही है। लेकिन इस रिपोर्ट को सरकार छुपाती फिर रही है। अगर आयकर विभाग की यह रिपोर्ट सच है तो जाहिर है कि इस तरह का बैंक फ्रॉड दुनिया का पहला फ्रॉड होगा। इस फ्रॉड से यह भी पता चलता है कि इस लूट कांड में पूरी व्यवस्था शामिल होती दिख रही है। अब मामला यह नहीं नहीं है कि यह कांड कब से जारी है ,मामला यह है कि तमाम तरह के नियम और चेक बैलेंस के बावजूद यह सब कैसे होता रहा।

आयकर विभाग द्वारा जारी किए गए कुछ दस्तावेजों के मुताबिक, बैंकों ने जो कर्ज दिए हैं और कार्पोरेट गारंटी जारी की हैं, उसका हिसाब लगाया जाए तो यह नुकसान 3 अरब डॉलर यानी करीब 20,000 करोड़ से ज्यादा का हो सकता है। आयकर विभाग का कहना है कि 31 मार्च, 2017 तक बैंकों ने नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की कंपनियों को 17,632 करोड़ रुपए रुपए के कर्ज और गारंटी जारी किए हैं। इसके बाद भी बैंक ने चौकसी और नीरव मोदी की कंपनियों को कर्ज और गारंटी दी हैं जो 20,000 करोड़ के पार जा सकता है। अब इस मामले में सोशल मीडिया पर टिप्पणी आनी शुरू हो चुकी हैं। ऐसे में लग रहा है कि वित्त मंत्रालय इस खेल को दबाने में लगा हुआ है।

यह भी माना जा रहा है कि लोगों का ध्यान इस घोटाले से हटाने के लिए दिल्ली सरकार और सचिव का मामला सामने लाने की कोशिश की जा रही है। कुछ लोगों का कहना है कि हो सकता है कि कोई बड़ी घटना देश में घट जाय ताकि लोगो का ध्यान उधर कर दिया जाय।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper