2025 तक बनेगा सैलानियों को अंतरिक्ष में जाने वाला विमान

वाशिंगटन: विमान के इंजन बनाने वाली कंपनी 2025 तक सैलानियों को अंतरिक्ष की सैर करवाने के लिए एक नया विमान तैयार करने की कोशिश में है। कंपनी का दावा है कि इस विमान की रफ्तार ध्वनि की रफ्तार से पांच गुना तेज है। यह विमान उड़ान भरने के 15 मिनट के भीतर पृथ्वी की कक्षा में पहुंचा सकता है। यह दावा रिएक्शन इंजन्स लिमिटेड (आरईएल)  कंपनी ने किया है। आरईएल स्काईलोन स्पेसप्लेन के निर्माण में लगी है।

उसकी योजना 2025 तक सैलानियों को अंतरिक्ष की सैर कराने की है। कंपनी इस विमान का परीक्षण 2020 तक शुरू करेगी। विमान निर्माण से जुड़े आरईएल के विशेषज्ञों ने बताया कि यह विमान धरती की कक्षा में पहुंचने के बाद उसमें बने रहने के लिए रॉकेट के ईंधन का इस्तेमाल करेगा। यह एक सेकेंड में 1.9 किलोमीटर की रफ्तार पकड़ सकता है। इसके बाद यह रॉकेट के इंजन के मोड पर आ जाएगा।

आरईएल की योजना दुनिया के पहले हाईपरसोनिक इंजन निर्माण की श्रेणी में नासा को टक्कर देने की है। स्काईलोन के निर्माण के लिए कंपनी ने बोइंग और रोल्स रॉयस से हाथ मिलाया है। आरईएल जिस हाई पावर इंजन का निर्माण कर रही है, उसे उसने साबरे इंजन नाम दिया है। यह जेट इंजन की तरह काम करेगा, जो साउंड की रफ्तार का साढ़े पांच गुना है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper