2047 में कैसा हो भारत? लाखों बच्चों ने भेजे पोस्टकार्ड, केंद्र सरकार उत्साहित

नई दिल्ली। हम जब आजादी के सौ साल पूरे करें, तब भारत कैसा होना चाहिए? लोग देश को किस रूप और भूमिका में देखना चाहते हैं? यह जानने के लिए सरकार समाज के विभिन्न वर्गों से राय लेकर खाका तैयार करेगी। इस सिलसिले में सरकार स्टार्टअप समुदाय से भी राय लेने की तैयारी कर रही है।

आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के मौके पर मनाए जा रहे अमृत महोत्सव के तहत संस्कृति मंत्रालय टेलीविजन पर प्रसारित होने वाले व्यवसायिक रियलिटी शो शार्क इंडिया कार्यक्रम की तर्ज पर प्रोग्राम बनाने पर विचार कर रहा है। ताकि स्टार्टअप समुदाय के साथ भविष्य के लिए तैयार भारत विषय पर राय ले सके।

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हम समाज के विभिन्न वर्गों से राय ले रहे हैं। इनमें स्टार्टअप समुदाय सबसे नया है। ऐसे में हम इनसे यह जानना चाहते हैं कि वह 2047 में भारत को कैसे देखना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि इसके बाद दूसरे वर्गों से भी इस विषय पर चर्चा कर राय ली जाएगी। वर्ष 2047 यानी आजादी के सौ साल पूरे होने पर भारत कैसा होना चाहिए, इसका खाका तैयार करने की जिम्मेदारी सरकार ने विभिन्न मंत्रालयों को सौंपी है। संस्कृति मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक इसके लिए विभिन्न मंत्रालयों के सचिवों का एक समूह बनाया गया है। इस समूह में करीब दस सचिव शामिल हैं।

इसके साथ मंत्रालय 2047 के भारत की कल्पना के बारे में देश भर से स्कूली बच्चों की तरफ से मिले एक करोड़ तीस लाख पोस्टकार्ड को लेकर भी काफी उत्साहित है। करीब 45 लाख पोस्टकार्ड में बच्चों ने 2047 के भारत को लेकर अपने विचार लिखे हैं कि वह अगले 25 साल में भारत को कैसे देखना चाहते हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कई सुझाव चौंकाने वाले हैं। इन पोस्टकार्ड का विश्लेषण करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्रोग्राम तैयार किया है। इन पोस्टकार्ड का विश्लेषण करने के बाद उन्हें डिजिटाइज कर दस्तावेज का रूप दिया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper