2+2 वार्ता: अमेरिकी तकनीक और हथियारों का इस्तेमाल कर सकेगा भारत

नई दिल्ली. भारत और अमेरिका ने गुरुवार को हुई पहली 2+2 वार्ता में संचार संगतता और सुरक्षा समझौता यानी कम्युनिकेशन कॉम्पैटिबिलिटी एंड सेक्युरिटी एग्रीमेंट (कॉमसीएएसए) पर हस्ताक्षर किये। इसके तहत भारत अमेरिका के आधुनिक हथियारों और तकनीक का इस्तेमाल कर सकेगा।
बातचीत में भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो और रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस शामिल हुए। बातचीत के दौरान दोनों देशों ने आतंकवाद के मुद्दे पर साथ-साथ लड़ने का फैसला किया। सुषमा स्वराज ने कहा कि इस बातचीत से दोनों देशों के रिश्ते और मजबूत होंगे। पॉम्पियो ने कहा कि हमें समुद्र, आकाश में आने-जाने की स्वतंत्रता सुनिश्चित करने के साथसामुद्रिक विवादों का शांतिपूर्ण तरीके से हल ढूंढ़ा जाना चाहिए। दोनों देश एक-दूसरे की बाजार आधारित अर्थव्यवस्था और गुड गवर्नेंस को आगे बढ़ाएंगे।भारत पहुंचने से पहले पॉम्पियो ने कहा था कि वार्ता में भारत और रूस मिसाइल सौदे और ईरान से तेल आयात करने पर बातचीत हो सकती है, लेकिन इस पर जोर नहीं रहेगा।
जून 2०17 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच व्हाइट हाउस में मुलाकात हुई थी। तब यह तय किया गया था कि द्बिपक्षीय सहयोग के तहत रक्षा तकनीक और व्यापारिक पहल के मुद्दों पर बात करने के लिए दोनों देश हर साल दो बार बैठक करेंगे। इसके तहत पहली 2+2 वार्ता 6 सितंबर को हो रही है। अप्रैल और जुलाई में यह वार्ता टाल दी गई थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper