25 साल की उम्र में भी डायपर पहनती है युवती

न्यूयार्क: आपकों यह जानकर हैरानी होगी कि 25 साल की एक अमेरिकी महिला फुलटाइम बेबी की तरह जिंदगी जी रही है। महिला का नामपैगी मिलर और वह एक फेटिश कम्युनिटी समुदाय से है जिसे एबीडीएल (वयस्क शिशु डायपर प्रेमी) के रूप में जाना जाता है।वह इस उम्र में भी डायपर पहनती है और पालने में सोने से लेकर खिलौनों से खेलती है। एक रिपोर्ट के अनुसार, पैगी अपनी जीवन शैली को बनाए रखने के लिए डायपर खरीदने के लिए लगभग 250 पाउंड (करीब 23 हजार रुपए) प्रति माह खर्च करती है।

रिपोर्ट के अनुसार, महिला अपने खर्चों को उन पैसे से पूरा करती है, जो उसके पेड सब्सक्राइबर्स देते हैं। उसने अपनी प्राइवेट सब्सक्रिप्शन सर्विस (निजी सदस्यता सेवा) स्थापित की है, जिसमें 426 लोगों ने सदस्यता ली है। उसका दिन पालना में जागने से शुरू होता है और डायपर बदलने के बाद वह खिलौनों से खेलने और एबीडीएल समुदाय के लिए सामग्री बनाने के साथ बिताती है। पैगी मई 2018 से इस लाइफ स्टाइल को जी रही है और इसका उद्देश्य अन्य लोगों के लिए इसी तरह की सामान्य लाइफ स्टाइल बनाना है।

भले ही वह एक पूर्णकालिक बच्ची हो, लेकिन उसे बिल चुकाने जैसी सामान्य वयस्कों वाले काम भी करने होते हैं।पूर्णकालिक शिशु के रूप में, सार्वजनिक और निजी दोनों नजरियों से उसे गलत समझा जाता है और ऐसे लोग होते हैं, जो अप्रिय टिप्पणी करते हैं और उसकी बुद्धिमत्ता पर सवाल उठाते हैं। लेकिन 25 वर्षीय दृढ़ महिला इन टिप्पणियों से प्रभावित नहीं है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper