282 सीट नहीं इस बार 315 सीटों से पार रहेगी भाजपा: मनोज सिन्हा

मऊ: स्थानीय जंक्शन पर वाशिंग पिट सहित अन्य तमाम निर्माण कार्य 70 प्रतिशत से अधिक पूरे हो चुके हैं, शेष कार्य आगामी दिसम्बर तक पूरे करा लिए जाएंगे। इसके बाद ट्रेनों के टर्मिनेट हो कर चलने की व्यवस्था हो जाने पर तमाम ट्रेनों की सुविधाएं बढ़ जाएंगी। यह बातें रेल राज्य मंत्री, संचार मंत्री स्वतंत्र प्रभार मनोज सिन्हा ने मंगलवार को मऊ से लखनऊ जाने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस के शुभारंभ के अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कही।

सिन्हा ने कहा कि आजादी के बाद से रेल विकास के मामले में पूर्वी उत्तर प्रदेश काफी उपेक्षित रहा है। कभी कभी उत्तर प्रदेश के लिए कोई परियोजनाएं आई भी तो रायबरेली और अमेठी तक ही सिमट कर रह गई। 2014 के बाद से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री के अगुवाई में बनी सरकार के बाद से उत्तर प्रदेश खासकर पूर्वी उत्तर प्रदेश में रेल की सुविधाओं में निरंतर विकास हुआ है।

उन्होंने कहा कि मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि आजादी के बाद से 2014 तक जितनी धनराशि पूर्वी उत्तर प्रदेश में रेल के लिए आवंटित की गई थी, उससे अधिक पिछले 3 वर्षों में पूर्वी उत्तर प्रदेश में लाने का काम किया है। आने वाले दिनों में पूर्वी उत्तर प्रदेश का रेल नेटवर्क देश के किसी भी हिस्से से किसी मायने में कमजोर नहीं रहेगा। सिन्हा ने अगामी लोकसभा चुनाव को लेकर कहा कि पिछली बार हम लोग 282 सीटों पर रुक गये थे, लेकिन इस बार 315 सीटों से पार रहेंगे।

उत्तर प्रदेश में 73 सीटे मिली थी लेकिन इस बार 74 सीटों से एक भी कम नहीं रहेगी। लोकसभा का चुनाव अंकगणित नहीं हैं कि दो धन दो चार होगा, यह राजनीति है। विरोधी दल फूलपूर,गोरखपुर और कैराना के उपचुनाव को लोकसभा के सामान्य निर्वाचन से मत जोड़े। लोकसभा के चुनाव में देश नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री चुनने के लिए फिर वोट करने वाला है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper