30 सितंबर तक नहीं चलेंगी रेगुलर ट्रेनें? रेलवे ने जारी किया यह बयान

नई दिल्ली: रेलवे बोर्ड ने सोमवार (10 अगस्त) को स्पष्ट किया कि ट्रेनों को फिर से शुरू करने या स्थगित करने से संबंधित कोई भी नया सर्कुलर जारी नहीं किया गया है। इसके साथ ही बोर्ड ने साफ तौर पर कहा कि अगले आदेश तक रेल सेवाएं निलंबित रहेंगी। दरअसल, सोशल मीडिया पर एक नोटिस वायरल हो रहा है, जिसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर सभी मेल/एक्सप्रेस, पैसेंजर और उप-नगरीय ट्रेन सेवाएं 30 सितंबर तक स्थगित रहेंगी। 10 अगस्त की अधिसूचना में यह भी कहा गया है कि भले ही ट्रेनों के रद्द होने को बढ़ा दिया गया हो, लेकिन स्पेशल मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें जारी कार्यक्रम के अनुसार चलती रहेंगी। इस बारे में रेल मंत्रालय ने भी ट्वीट करके स्पष्टीकरण दिया है। रेल मंत्रालय ने लिखा, “मीडिया के कुछ हिस्सों में यह खबर चल रही है कि रेलवे ने 30 सितंबर तक सभी नियमित ट्रेनों को रद्द कर दिया है। यह सही नहीं है। रेल मंत्रालय द्वारा कोई नया सर्कुलर जारी नहीं किया गया है। स्पेशल मेल एक्सप्रेस ट्रेनें चलती रहेंगी।”

मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) शिवाजी सुतार ने भी इस संबंध एक स्पष्टीकरण जारी किया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा, “हमने पैसेंजर और स्पेशल ट्रेनों को स्थगित करने को लेकर 11 मई 2020 को ही एक पत्र जारी किया था, जिसमें कहा गया था कि अगले आदेश तक ये ट्रेन सेवाएं स्थगित रहेंगी।” मुंबई में, सीमित संख्या में लोकल ट्रेनें जो आवश्यक सेवा कर्मचारियों के लिए चलाई जा रही हैं, वे भी चलती रहेंगी। दूसरी ओर, देश में कोरोना महामारी से सबसे गंभीर रूप से प्रभावित महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों के दौरान 9198 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या सोमवार (10 अगस्त) की रात बढ़कर 5.25 लाख के करीब पहुंच गई, लेकिन राहत की बात यह है कि इस दौरान 6711 मरीजों के स्वस्थ होने से संक्रमण से मुक्ति पाने वालों की संख्या भी 3.58 लाख से अधिक हो गई। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार राज्य में अब तक 5,24,513 लोग इस महामारी की चपेट में आए हैं।

इस दौरान 293 और लोगों की इससे मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 18,050 हो गई है। राज्य में इस अवधि में स्वस्थ होने वालों की कुल संख्या 3,58,421 हो गई है। राज्य में मरीजों के स्वस्थ होने की दर सोमवार को आंशिक वृद्धि के साथ बढ़कर 68.33 फीसदी पहुंच गई जो रविवार (9 अगस्त) को 68.24 प्रतिशत रही थी, जबकि मरीजों की मृत्यु दर भी घटकर 3.44 प्रतिशत पर आ गई। राज्य में कुल सक्रिय मामलों की संख्या सोमवार को 1,47,735 हो गई जो रविवार को 1,45,558 रही थी। यानी सक्रिय मामलों में 2170 मरीजों की वृद्धि दर्ज की गई जो चिंता का विषय है। सभी मरीजों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज किया जा रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper