38 महीनों में सुरक्षाबलों ने कश्मीर में 630 आतंकियों को उतारा मौत के घाट

नई दिल्ली: मई 2018 से जून 2021 के बीच जम्मू कश्मीर में कम से कम 630 आतंकवादियों को मौत के घाट उतारा गया है। यह जानकारी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने राज्यसभा में दी। उन्होंने बताया कि इस दौरान 400 एनकाउंटर्स भी हुए, जिसमें 85 जवान शहीद हो गए। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह के सवाल का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर सीमा लगातार सीमापार से प्रयोजित आतंकवाद का शिकार रहा है।

आतंक के मददगारों पर सख्ती
अपने लिखित जवाब में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि आतंकवाद को लेकर सरकार की जीरो टॉलिरेंस की पॉलिसी है। उन्होंने कहा कि सरकार ने यहां पर सुरक्षा बेहतर बनाने के लिए उपाय किए हैं। देश विरोधी तत्वों के खिलाफ कड़े कानून लागू किए गए हैं। साथ ही आतंकी संगठनों की चुनौती से निपटने के लिए लगातार सर्च ऑपरेशन भी चलाए जा रहे हैं। नित्यानंद राय ने कहा कि सुरक्षा बल ऐसे लोगों पर कड़ी नजर रख रहे हैं जो आतंकवादियों की मदद कर रहे हैं। साथ ही उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी की जा रही है।

664 बार पाकिस्तान ने किया सीजफायर का उल्लंघन
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने बताया कि जून 2021 तक पाकिस्तान द्वारा जम्मू कश्मीर में 664 बार सीजफायर का उल्लंघन करते हुए सीमापार से गोलीबारी की गई है। हालांकि मार्च महीने में यहां पर सीमा पार से गोलीबारी या सीजफायर उल्लंघन की एक भी घटना नहीं हुई थी। वहीं डीएमके सांसद तिरुचि सिवा के जाब में उन्होंने राज्यसभा को बताया कि 2019 में यूएपीए कानून के तहत जम्मू-कश्मीर में 1948 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा 34 लोगों को सजा भी सुनाई गई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper