‘4टी’ नीति के जरिये पाया कोरोना पर काबू: योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि कोरोना के खिलाफ ट्रेसिंग, टेस्टिंग, ट्रीटमेंट और टीकाकरण यानी ‘4टी’ नीति के ईमानदारी से क्रियान्वयन की बदौलत राज्य में कोविड पर प्रभावी नियंत्रण पाया जा सका है। कोरोना से बचाव के लिए 12-14 आयु वर्ग के बच्चों के टीकाकरण अभियान के शुभारंभ के मौके पर योगी ने लखनऊ के सिविल हॉस्पिटल पहुंचकर टीका लगवाने आए बच्चों से भेंट की और उपहार देकर उनका उत्साहवर्धन किया। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सदी की सबसे बड़ी महामारी कोरोना के खिलाफ भारत पूरी मजबूती से लड़ रहा है। दुनिया ने भारत के कोविड प्रबंधन की न केवल मुक्त कंठ से प्रशंसा की है बल्कि अपनाया भी है। उन्होने कहा कि प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 1000 से भी कम रह गई है। टेस्ट, ट्रेस, और टीका में उत्तर प्रदेश देश में पहले स्थान पर है। तीसरी लहर कब शुरू हुई और कब समाप्त हो गई, पता ही न चला और अब जबकि विशेषज्ञ चौथी लहर की आशंका जता रहे हैं, तब भी प्रदेश पूरी मजबूती के साथ लड़ाई के लिए तैयार है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में अब तक 29 करोड़ 54 लाख वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। 103 फीसदी से अधिक वयस्क लोगों ने पहली खुराक प्राप्त कर ली है, जबकि 82 प्रतिशत लोगों को दोनों डोज मिल चुकी है। इसी प्रकार, प्रिकॉशन डोज के लिए पात्र फ्रंट लाइन वर्कर, पुलिसकर्मी, गंभीर रोग से ग्रस्त लोगों में से 97 फीसद लोगों को टीका लग चुका है। जबकि 15-17 आयु वर्ग में एक करोड़ 29 लाख 22 हजार से अधिक यानी 92 प्रतिशत किशोरों ने टीके की पहली खुराक ले ली है और 65 लाख 50 हजार यानी 47 फीसदी किशोर टीके की डबल डोज के सुरक्षा कवर में हैं। उन्होंने कहा कि 12-14 आयु वर्ग के लगभग 84 लाख 64 हजार बच्चों का टीकाकरण होना है, जिसके लिए पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध है। ‘सबको टीका-मुफ्त टीका’ का संकल्प पूरा होगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper