राहुल ने पहनी 70 हजार की जैकेट, भाजपा ने उड़ाया मजाक

शिलांग: कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार सुर्खियों में रहते हैं। चाहे वह अपने भाषण को लेकर चर्चा में रहें या फिर आम जनता की मदद को लेकर। लेकिन इस बार उनके चर्चा में होने की वजह दूसरी है। इस बार राहुल अपने सूट की वजह से चर्चा में हैं। फरवरी में होने वाले चुनावों के सिलसिले में राहुल इस समय मेघालय दौरे पर हैं। यहां एक प्रोग्राम में कांग्रेस अध्यक्ष 70 हजार रुपए कीमत वाली जैकेट पहन कर पहुंचे। इसके बाद विपक्ष ने उन्हें निशाने पर ले लिया।

मंगलवार 30 जनवरी को महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर शिलांग में सेलिब्रेशन ऑफ पीस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। राहुल यहां ब्लैक जैकेट पहन कर पहुंचे। भाजपा ने इस जैकेट पर कांग्रेस अध्यक्ष को घेर लिया। भाजपा की मेघालय यूनिट ने जैकेट की पूरी जानकारी निकाल कर सोशल मीडिया पर पोस्ट की। जैकेट की कीमत की फोटो को पोस्ट करते हुए भाजपा ने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया- ‘तो राहुल गांधी जी व्यापक भ्रष्टाचार द्वारा मेघालय के सरकारी खजाने को चूसने के बाद ब्लैक मनी से सूट बूट की सरकार? हमारे दुखों पर गाना गाने की बजाय, आप मेघालय की नकारा सरकार का रिपोर्ट कार्ड दे सकते थे।

आपकी उदासीनता हमारा मजाक उड़ाती है।’ बता दें कि यह जैकेट ब्रिटिश लग्जरी फैशन ब्रैंड बरबरी ने बनाया है। ब्लूमिंगडेल्स वेबसाइट के मुताबिक इस जैकेट की कीमत 68145 रुपये है। गौरतलब है कि 2015 में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने अपने नाम बाला सूट पहना था। इस सूट की कीमत लाखों में बताई गई थी। इस सूट को लेकर राहुल गांधी ने कई बार प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा था। इस सूट की 4 करोड़ 31 लाख रुपये में नीलामी की गई थी। इस पर कांग्रेस ने उनका खूब मजाक उड़ाया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper