60 हजार करोड़ के भगोड़े शाइन सिटी के मालिक राशिद नसीम को दुबई से भारत ले आने की मांग

लखनऊ: 60 हजार करोड़ के भगोड़े शाइन सिटी के मालिक राशिद नसीम को दुबई से भारत ले आने की माँग की गई है। यह माँग राष्ट्रीय मजदूर किसान संगठन के पदाधिकारियों द्वारा डीसीपी ईस्ट के माध्यम से पुलिस कमिश्नर को दिए गए ज्ञापन में की गई है। शाइन सिटी कम्पनी के मालिक राशिद नसीम पर आरोप है कि उसने फौजियों, किसानों व बेरोजागरो से करीब 60 हजार करोड़ रुपयों की ठगी की है। यह ठगी करने के बाद राशिद नसीम पुलिस और उत्तरप्रदेश सरकार की आँख में धूल झोंककर दुबई भाग गया है। और अब दुबई से ही वो वीडियो सन्देश भेज कर अपने कर्मचारियों को दिशा निर्देश दे रहा है।

शाइन सिटी के मालिक राशिद नसीम वा उनके करीबियों पर गोमतीनगर में 150 से अधिक तथा उत्तरप्रदेश में 2500 से अधिक मामले दर्ज है।राशिद नसीम ने प्रदेश के लगभग 10 लाख निवेशकों से अबतक लगभग 60 हजार करोड़ रुपये लेकर फरार है।गोमतीनगर थाने के 10 विवेचक इस मामले में विवेचना कर रहे है।एक मात्र विवेचक जिसने अकेले इस मामले में ज्ञान प्रकाश उपाध्याय, उत्तमा अग्रवाल समेत पाँच लोगो की गिरफ्तारी की थी उसको हटा दिया गया है।जिसके बाद शाइन सिटी के पीड़ितों की न्याय की उम्मीद समाप्त हो गई है।इस दौरान शाइन सिटी के पूर्व कर्मचारियों द्वारा अलग अलग नाम से कम्पनी बनाकर शाइन सिटी की तर्ज पर लोगो से ठगी की जा रही है।उसमें से कुछ कम्पनियो के खिलाफ आज राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के लखनऊ मण्डल अध्यक्ष मो. शकील की अगुवाई में कोविड 19 के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए डिप्टी कमिश्नर ईस्ट के माध्यम से लखनऊ पुलिस कमिश्नर को एक ज्ञापन सौंपा गया।ज्ञापन में माँग की गई कि राशिद नसीम के कुछ पूर्व कर्मचारी जो अब कम्पनी का नाम बदलकर शाइन सिटी की तर्ज पर धोखाधड़ी कर रहे है।उनके कार्यकाल तथा उनके प्रोजेक्ट को तत्काल सील कर मुकदमा दर्ज किया जाए। पिछले कुछ दिनों में वेव सिनेमा के पीछे शाइन सिटी के पूर्व कर्मचारियों के कार्यालय देखे गए।जिसकी सूचना पुलिस कमिश्नर को गई है।

गौरतलब है कि मोहनलाल गंज के किसान पथ तथा देवा रोड तथा लखनऊ सदर के कुछ इलाकों में कुछ अवैध प्रोजेक्ट में प्लाटिंग की जा रही है।प्लाटिंग में बकायदा प्रधानमंत्री आवास योजना तथा उज्वला योजना का नाम जोड़कर भ्रामक प्रचार प्रसार भी किया जा रहा है।उनपर तत्काल कार्यवाही की माँग की गई तथा राशिद नसीम तथा उनके करीबियों को तत्काल गिरफ्तार करने की माँग की गई।मण्डल अध्यक्ष मो. शकील ने इस मामले में चल रही कार्यवाही पर अपनी बात साझा की और बताया कि 20 लाख से ऊपर के मामलों की विवेचना थाना स्तर पर नही होनी चाहिए। लेकिन अभी भी गोमतीनगर थाने के 10 विवेचक इस मामले की विवेचना कर रहे है।और दूसरी ओर शाइन सिटी के पूर्व कर्मचारी कम्पनी का नाम बदलकर अभी भी राशिद नसीम के लिए काम कर रहे है।और राशिद नसीम दुबई में बैठकर अभी भी वीडियो सन्देश के माध्यम से दिशा निर्देश दे रहा है।मो. शकील ने बताया की शाइन सिटी के मामले में प्रदेश के लगभग 10 लाख पीड़ित है जिनको न्याय नही मिल पा रहा है।यह कम्पनिया रेरा समेत अन्य विभागों की गाइडलाइन की धज्जियां उड़ा रही है।

मो. शकील ने बताया कि यदि इनपर तत्काल रोक नही लगाई गई तो आने वाले समय मे और बड़ी मात्रा में लोग ठगे जाएंगे।राशिद नसीम के बारे में युवा मण्डल अध्यक्ष तथा मण्डल उपाध्यक्ष कुंदन वर्मा ने कहा कि राशिद नसीम देश का सबसे बड़ा भगोड़ा है।विजय माल्या और नीरव मोदी ने बैंकों को चुना लगाया था लेकिन राशिद नसीम ने फौजियों, किसानों और बेरोजगारों को चुना लगाया है।ज्ञापन देते समय कोविड 19 के दिशा निर्देशों तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया और कहा गया कि यदि आगामी कुछ दिनों में यूनियन की मांगों पर कार्यवाही नही की गई तो संगठन शासन प्रशासन के खिलाफ धरने पर विवश होगा।जिसका जिम्मेदार शासन प्रशासन स्वयं होगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper