7 बच्चों का पिता कर रहा था पांचवां निकाह, मंडप पर बेटे-बेटियों ने खूब पीटा

सीतापुर: उत्तर प्रदेश का एक शख्स चार शादियां कर चुका था और अब पांचवीं बार शादी करने जा रहा था, मगर इस बार उसका लक साथ नहीं दिया. 55 साल का शफी अहमद मंगलवार की रात पांचवीं बार निकाह करने जा ही रहा था कि अचानक मौके पर उसकी पत्नी और सातों बच्चे पहुंच गए. उसके बाद ऐसा बवाल हुआ कि दुल्हन बनकर तैयार लड़की को मंडप से भागना पड़ा. इतना ही नहीं, पांचवीं शादी का ख्वाब पाले पिता की सात बच्चों ने जमकर पिटाई कर दी.

सात बच्चों का पिता शफी अहमद चोरी-छिपे निकाह करने जा रहा था, तभी निकाह के दौरान पत्नी और उसके सातों बच्चों ने मौके पर पहुंचकर जमकर हंगामा काटा और पिता को भी मौके पर मारा-पीटा. अपने सात बच्चों और पत्नी से शफी अहमद को पिटते देख निकाह के लिए आई पांचवीं दुल्हन मौका देखते ही फरार हो गई. पुलिस ने मौके से पिता को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है.

पुलिस का कहना है कि बच्चों की तहरीर पर केस दर्ज कर जांच-पड़ताल की जा रही है. बताया जा रहा है कि आरोपी शफी अहमद पहली पत्नी को तलाक दे चुका है और दूसरी पत्नी से उसके 7 बच्चे हैं. जबकि तीसरी व चौथी शादी छुप कर की थी. उसने दोनों ही पत्नियों को हज पर भेज दिया. इसके बाद वह पांचवीं शादी करने जा रहा था. यह पूरा मामला कोतवाली देहात के सरदार कॉलोनी का है.

शहर कोतवाली क्षेत्र के कोहना इलाके के पटिया निवासी वृद्ध शफी अहमद पांचवीं शादी करने जा रहा था, लेकिन उसी समय शफी अहमद के सातों बच्चे मौके पर पहुंच गए और बवाल करने लगे. बच्चों का कहना है कि पिता ने जिस महिला के साथ पहली शादी की थी, उसको तलाक दे दिया था. दूसरी शादी के बाद मां ने सात बच्चों को जन्म दिया. बच्चों का आरोप है कि इसके बाद पिता ने तीसरी और चौथी शादी सबसे छिपाकर की और दोनों को हज पर भेज दिया है. बच्चों का कहना है कि शफी अहमद पिछले कुछ महीनों से उनका खर्च भी नहीं दे रहा है. फिलहाल, आरोपी पिता पुलिस की हिरासत में है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper