9 महीने से जिस डॉक्टर से इलाज करा रही थी महिला वही उसका असली पिता निकला, DNA ने खोली पोल…

जहां दुनिया तरक्की कर रही है हम हर चीज़ एडवांस इस्तेमाल कर रहे हैं उन्हीं में से एक सोशल मीडिया भी है जिसका पावर शायद ही कोई समझ पाए लोग सोशल मीडिया को बस मज़े के लिये इस्तेमाल करते हैं लेकिन आज सोशल मीडिया आग की तरह फैलता है ये एक ऐसा अंधा कुछ बन चुका है जहां आप कुछ भी कर सकते हैं आपके हर ज़रूरत की चीज़ यहां मिल जाएगी आपके एंटरटेनमेंट का साधन ये बन जायेगा आपको अकेला महसूस होने नहीं देगा बहुत सारी बातें हैं जिसका पूरा फायदा सोशल मीडिया से होता है.

हालांकि इन दिनों सोशल मीडिया पर एक न्यूज तेजी से वायरल हो रही है कि जिस डॉक्टर से महिला 9 महीने से अपना इलाज करा रही है वही उसका असली पिता निकला यह मामला अमेरिका के न्यूयॉर्क का है, न्यूयार्क में रहने वाली 35 वर्षीय महिला मॉर्गन हेलक्विस्ट को जब पता चला जैसे मानों उसके पैरों तले जमीन खिसक गई हो कि जिस स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर से मॉर्गन पिछले 9 महीने से अपना इलाज करा रही है असल मे वही उसके पिता हैं.

मॉर्गन ने बताया कि न्यूयार्क सेंटर ऑफ मेंस्रुअल डिसऑर्डर में डॉक्टर मॉरिस वार्टमैन काफी लंबे समय से काम कर रहे हैं यह बात है डॉक्टर मॉरिस की उम्र 70 साल है और साल 1985 में जन्मी मॉर्गन को साल 1993 में पता चला कि उनकी माँ को कृतिम गर्भाधान से गर्भ धारण किया था, ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि 1980 में मॉर्गन के पिता एक सड़क हादसे का शिकार हो गए थे जिसके बाद उन्होंने डॉक्टर मॉरिस से सम्पर्क कर गर्भाधान किया था।

उस समय डॉक्टर मॉरिस ने मॉर्गन के पिता से यह कहा था कि उस प्रोसेस में इस्तेमाल होने वाला स्पर्म एक मेडिकल स्टूडेंट का है हालांकि ये बात डॉक्टर मॉरिस ने मॉर्गन के माता-पिता से छुपाई थी कि उसमें इस्तेमाल होने वाला स्पर्म किसी मेडिकल स्टूडेंट का नहीं बल्कि खुद डॉक्टर मॉरिस का है बस इसी झूठ के लिए मॉर्गन उनके खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया है.

बताते चलें कि मॉर्गन के कथानुसार डॉक्टर मॉरिस ने मॉर्गन प्राइवेट पार्ट का अल्ट्रासाउंड भी किया है अब ये सब सोच के मॉर्गन को बुरा लग रहा है ऐसे में उन्हें पता होता तो ऐसा ना करती उनसे कभी.

मॉर्गन आगे कहती हैं कि इसी साल अप्रैल में जब उन्होंने डॉक्टर मॉरिस से अपॉइंटमेंट लिया तो मॉर्गन को ऐसा लगा कि वही उनके असली पिता है अगर उन्हें ये पहले पता होता तो वो कभी इस डॉक्टर से अपना इलाज न कराती क्योंकि इलाज के दरमियान डॉक्टर मॉरिस ने कई दफा उनके प्राइवेट अंगों का अल्ट्रासाउंड भी किया है इसके लिए मॉर्गन ने उनपर केस किया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper