सोशल मीडिया पर वायरल हुई दर्दनाक कहानी, हथिनी की मौत की होगी जांच

मलप्पुरम: केरल के मलप्पुरम में कुछ लोगों ने गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिला दिया था, जिसके बाद उसके मुंह में पटाखे फट जाने से उसकी मौत हो गई. सोशल मीडिया पर इस घटना को लेकर लोगों में उबाल देखने को मिल रहा है. लोग इस घटना को अमानवीय बता रहे हैं, साथ ही घटना में संलिप्त लोगों की इंसानियत पर सवाल भी खड़े कर रहे हैं.

इस मामले पर वन्य जीव अधिकारियों से बात की तो उन्होंने कहा कि पूरे मामले की जांच अभी चल रही है. हम हथिनी की मौत का पता लगाने की कोशिशों में जुटे हैं. इस पूरी चर्चा की शुरुआत तब हुई जब एक जूनियर स्तर के अधिकारी ने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि हथिनी की मौत की वजह मुंह में पटाखे फटने की वजह से हुई है.

सोशल मीडिया पर गर्भवती हथिनी की पानी खड़े होने वाली तस्वीर वायरल हो रही है. लोगों का गुस्सा मलप्पुरम के लोगों को पर फूट रहा है. मलप्पुरम गांव में हथिनी खाने की तलाश में आई थी. कुछ स्थानीय लोगों ने अनानास में पटाखे भरकर हथिनी को खिला दिया. दिल दहलाने वाली यह घटना सोशल मीडिया पर चर्चा के केंद्र में है. सामान्य तौर पर हाथियों का झुंड जंगलों में हमेशा चक्कर काटता रहता है. इस हादसे के बाद हथिनी एक नदी में खड़ी हो गई और असहनीय दर्द सहती रही. अपने आप में यह काफी दर्दनाक मामला है.

इस दर्दनाक घटना को नीलांबर के सेक्शन फॉरेस्ट अधिकारी मोहन कृष्णन ने सोशल मीडिया पर पहले शेयर किया. गांव में खाने की तलाश में अक्सर हाथी भटककर आ जाते हैं. लोगों ने अनानास में पटाखे छिपाए थे, सामान्य तौर पर ग्रामीण लोग ऐसा जंगली सूअरों को भगाने के लिए करते हैं. जैसे ही हथिनी ने फल खाया, उसके मुंह में पटाखे फूट पड़े, जिसकी वजह से उसे भयानक दर्द का सामना करना पड़ा.

CAA का विरोध करने का आरोप, हिरासत में लिए गए जेएनयू-डीयू के छात्र

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper