Amazon पर मिलेगी खादी, यूपी खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के बीच हुआ करार

लखनऊः उत्तर प्रदेश की खादी अब ऑनलाइन बिकेगी। इसके लिए 20 फरवरी को अमेजन और खादी ग्राम उद्योग बोर्ड के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया है। जिसमें भारत के गांवों के खादी कारीगर अपने उत्पाद को सीधे अमेज़न से बेच सकते हैं। इसके लिए अमेज़न कारीगरों को शिक्षित एवं प्रशिक्षित करेगा। इससे भारत के लोगों को खादी की दिशा में अभूतपूर्व बढ़त मिलेगी तथा साथ ही नवरोजगार का भी सृजन होगा।

भारत में खरीद और बिक्री के तरीके को बदलने के अपने दृष्टिकोण के अनुसार अमेज़न इंडिया ने मंगलवार उत्तर प्रदेश के खादी एवं ग्राम उद्योग बोर्ड के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया है। इस समझौते के तहत अमेज़न इंडिया गांवों में रहने वाले खादी कारीगरों को देशभर में Amazon.in के ग्राहकों को सीधे अपने उत्पाद बेचने के लिए शिक्षित एवं प्रशिक्षित कर सक्षम बनाएगा।

आॅनलाइन उत्पादों की सूची में खादी के शर्ट, कुर्ते, धोती, टाॅवेल और स्वादिष्ट व्यंजन होंगे। जिनकी शहरों में भारी मांग व सामर्थ्य है। इस पहल पर अपने विचार व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार में खादी एवं ग्राम उद्योग के मंत्री सत्यदेव पचौरी ने कहा कि ‘‘खादी भारत की पहचान है, जिसे विगत कुछ वर्षों में ग्राहकों से नई स्वीकार्यता मिली है। ऐसे कई बुनकर और कारीगर हैं, जो अपनी कुशलता से खादी को जीवंत करते हैं।

मंत्री ने कहा कि हम मानते हैं कि इन कलाकारों के लिए ई-काॅमर्स सर्वश्रेष्ठ तरीका है, ताकि वह देश और विदेश में ग्राहकों तक पहुंच सकें। हम इन कारीगरों की डिजिटल यात्रा में अमेज़न के साथ भागीदारी कर प्रसन्न हैं, इससे उनकी पहुंच बढ़ेगी और रोजगार निर्मित होगा। आॅनलाइन वाणिज्य क्षेत्र का यह उपक्रम सरकार की ‘डिजिटल इंडिया’ पहल को सहयोग देता है और हम इस यात्रा में अमेज़न को सहयोग प्रदान करते रहेंगे।

वहीं उत्तर प्रदेश सरकार के खादी एवं ग्राम उद्योग के प्रधान सचिव और आईएएस नवनीत सहगल ने कहा कि इस भागीदारी से हमारे उत्पादों को बड़ा ग्राहक आधार मिलेगा और बिक्री बढ़ेगी। जिससे हमारे ग्रामीण कारीगर प्रोत्साहित होंगे। अपने समृद्ध अनुभव और ग्राहकों की गहन समझ से अमेज़न इंडिया इन प्रतिभावान कारीगरों और बुनकरों के जीवन में परिवर्तन ला सकता है, ताकि वह बढ़ती डिजिटल अर्थव्यवस्था से लाभान्वित हो सकें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper