पचास हजार लाओ, मायावती का जन्मदिन मनाओ

अश्वनी श्रीवास्तव
लखनऊ : बसपा सुप्रीमो मायावती के 13 माल एवेन्यू स्थित बंगले पर आज जमकर धनवर्षा होगी. दरअसल मायावती का आज जन्मदिन है. अपने 62वें जन्म दिन को लेकर मायावती ने हाल ही में अपनी पार्टी के सभी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं, विधायकों समेत प्रत्येक सांसदों से 50 हजार रुपये के हिसाब से पार्टी कोष में जमा करने का फरमान जारी किया है. जिसके चलते पार्टी के छोटे से लेकर बड़े नेता बहनजी का करीबी बनने के लिए अधिक से अधिक धनराशि पार्टी फंड के लिए जुटाने की मुहिम में जुट हुए हैं.

दलितों का हुआ मोहभंग

गौरतलब है कि बसपा सुप्रीमो मायावती की इन्हीं अदूरदर्शी नीतियों के चलते 2008 से लेकर 2016 तक हुए राज्यों के विधान सभा और लोकसभा के चुनाव में बसपा को निरंतर करारी हार का सामना करना पड़ा. साथ ही दलितों का मायावती से मोह भी भंग हुआ. लेकिन 2016 में हुए यूपी के नगर निकाय चुनाव ने बसपा को मिली कुछ सीटों पर सफलता ने राहत जरूर दी. इसी राहत को अब बसपा 15 जनवरी 2018 को बसपा सुप्रीमो मायावती के जन्मदिन पर कैश करवाने की तैयारी है.

हार ने गिराया बसपा का दाम

पार्टी के सूत्रों की मानें तो कई चुनावों में मिली पार्टी की करारी हार से बसपा को मनोवांछित चंदा नहीं मिल पा रहा था. यूं तो बसपा सुप्रीमो मायावती हर साल अपना जन्मदिन आर्थिक सहयोग दिवस के रूप में मनाती हैं. पहले अपने जन्म दिन पर एक लाख रुपए से कम का चंदा स्वीकार नहीं करती थी. लेकिन पार्टी को कई चुनावों में मिली हार से बसपा को अब चंदा भी कम मिल रहा है. इस बार बसपा ने प्रत्येक जिला अध्यक्ष को 500 लोगों को बसपा सुप्रीमो मायावती से मिलवाने का लक्ष्य निर्धारित किया है. इस लक्ष्य के तहत प्रत्येक को 50 हजार रुपए जमा करवाने हैं. यही लक्ष्य पार्टी के वर्तमान और पूर्व विधायकों और सांसदों को दिया गया है.

आयरन लेडी की छवि हुई धूमिल

फिलहाल कभी बसपा सुप्रीमो मायावती के खास सिपाहसलार रहे एक पूर्व मंत्री का कहना है कि इसी पैसे की भूख ने बाबा साहब और मान्यवर कांशीराम जी का मिशन और पार्टी को रसाताल में पहुंचा दिया है. जिसका खामियाजा दलित समाज को भुगतना पड़ रहा है. दूसरी राजनीतिक पार्टियां दलितों को मात्र एक वोट बैंक की नजर से ही देखती हैं. इस वोट बैंक पर बसपा का कब्जा मानती हैं. उनका कहना है कि बहनजी में पैसे लेने की एक बीमारी लग गई है. इस बीमारी ने आयरन लेडी की छवि को धूमिल किया है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper