छत्तीसगढ़: अटल की अस्थियों के लिए चढ़ाईं बांहें

बात 16 अक्टूबर की है। रायपुर में भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में प्रदेश चुनाव समिति की बैठक चल रही थी। इसी बीच पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी व कांग्रेस लीडर करुणा शुक्ला कुछ पार्टी जनों के साथ वहां पहुंचीं और कार्यालय के मुख्य द्वार पर धरना देकर अटल की अस्थियों की मांग करने लगीं।

पुलिस वाले कांग्रेसियों को धरना स्थल से हटाने में लगे ही थी कि शोरगुल सुनकर कार्यालय के अंदर से भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव अपने समर्थकों के साथ बाहर आ गए। फिर क्या था, दोनों तरफ से बांहें चढ़ गयीं और अटल बिहारी अमर रहें के नारे के बीच एक-दूसरे के खिलाफ शब्दों की बौछार करने लगे। बहरहाल, पुलिस ने प्रदर्शनकारी कांग्रेसियों करुणा शुक्ला, पूर्व महापौर किरणमयी नायक, कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी, शैलेश नितिन त्रिवेदी आदि को हिरासत में लेकर मामले को शांत कराया।

घटना के बादं संजय श्रीवास्तव का कहना था कि अटल जी का स्मारक बनाने के लिए मिट्टी कलश में एकत्र कर भाजपा कार्यालय में रखी गई है। इन्हें (करुणा) अटल जी के अपमान की चिंता थी, तो वह कलश यात्रा में क्यों शामिल नहीं हुईं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper