बाराबंकी में एक बार फिर कोरोना का फूटा बम, 30 नए मामले सामने आए

लखनऊ। प्रदेश में कोरोना वायरस का प्रसार जारी है। अनलॉक टू में भी मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। राजधानी की किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में बुधवार को जांच किये गए 3,446 नमूनों में 60 की रिपोर्ट गुरुवार को पॉजिटिव आई। इनमें बाराबंकी के 30, लखनऊ के 14, संभल के 06, अयोध्या व हरदोई के 04-04, लखीमपुर खीरी व बहराइच का 01-01 रोगी शामिल है।

इसके अलावा अन्य जनपदों में भी कोरोना के नए मामलों की पुष्टि हुई है। संतकबीरनगर में गुरुवार को आई रिपोर्ट में आठ और कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जनपद में अब तक 247 लोग पॉजिटिव मिल चुके है। जबकि सात संक्रमित की मौत हो चुकी है। वहीं 52 सक्रिय मामले हैं। जबकि 188 लोग ठीक होकर घर जा चुके है।

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मोहन झा ने बताया कि आठ नए कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जिसमें एक-एक बेलहर और महुली इलाके के व छह धनघटा इलाके के रहने वाले हैं। पॉजिटिव लोगों को सेंट थॉमस इंटर कालेज के एल-1 चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। पूर्व में पॉजिटिव मिले चार लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है, जिन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज से गुरुवार को सिद्धार्थनगर के 353 लोग की रिपोर्ट आई। इसमें संक्रमण का एक मामला सामने आया है। बांसी कस्बा के नरकटहा मोहल्ला निवासी 24 वर्षीय महिला संक्रमित मिली है। यह मुंबई से आई थी। स्वास्थ्य विभाग ने इसे घरेलू एकांतवास में किया था। आशा कार्यकर्ता की जांच में लक्षण दिखाई पड़ने पर जांच के लिए नमूना भेजा, जिसके बाद संक्रमण की पुष्टि हुई।

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सीमा राय के मुताबिक जिले में संक्रमित की संख्या 260 है। इनमें 45 सक्रिय मामले हैं। जिसमें 205 लोग ठीक हो चुके हैं। दस की मौत हुई है। अब तक 8378 लोगों की जांच हो चुकी है। जिनमें 6853 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 817 की जांच रिपोर्ट आनी शेष है।

इस बीच आज से मेरठ मण्डल के 06 जिलों में आज से कोरोना को लेकर विशेष जांच अभियान शुरू हो गया है, यह 12 जुलाई तक चलेगा। इसमें टीमें घर-घर जाकर लोगों से हालचाल लेंगी। इस दौरान जो लोग लक्षण वाले हैं, उनके साथ दिल, कैंसर, लीवर, किडनी, डायबिटीज, हाइपरटेंशन आदि बीमारी से ग्रसित लोगों का भी रिकार्ड दर्ज किया जाएगा। इन लोगों को जागरूक किया जाएगा, ताकि ये लोग अतिरिक्त सावधानी बरतने के साथ संक्रमण से बचे रहें। वहीं प्रदेश के अन्य 17 मण्डलों में 05 जुलाई से इस अभियान का शुभारम्भ होगा, जो 15 जुलाई तक चलेगा। इस तरह पूरे प्रदेश में 02 से 15 जुलाई तक इस अभियान के दौरान हर घर तक स्वास्थ्य टीमें पहुंचेंगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में मेडिकल स्क्रीनिंग की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसके दृष्टिगत मेडिकल स्क्रीनिंग टीम द्वारा घर-घर जाकर लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की जाए। स्क्रीनिंग के उपरान्त जिन्हें उपचारित करने की आवश्यकता हो, उनके उपचार की समुचित व्यवस्था की जाए। उन्होंने मेडिकल स्क्रीनिंग टीम के डाटा की माॅनिटरिंग करने के निर्देश देते हुए कहा कि इससे कोविड-19 के संक्रमण से निपटने के लिए बेहतर रणनीति तय करने में मदद मिलेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper