डोनाल्ड ट्रंप ने अपनाया नरेंद्र मोदी के बोलने का अंदाज

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि पिछले साल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे कहा था कि दुनिया के किसी भी देश ने नि: स्वार्थ भाव से अफगानिस्तान में इतना काम नहीं किया जितना अमेरिका ने किया है। उन्होंने कहा कि इससे पता चलता है कि दुनिया हमारे कामों का किस तरह से मूल्यांकन करती है। मजेदार बात यह भी है कि यह बात उन्होंने बिल्कुल नरेंद्र मोदी की तरह भारतीय शैली की अंग्रेजी बोलते हुए कही।

खबर के मुताबिक राष्ट्रपति ट्रंप उस समय ‘अफगानिस्तान नीति’ पर चर्चा कर रहे थे। कई वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि राष्ट्रपति हमेशा से ही भारतीय अंग्रेजी प्रभावित रहे हैं। वह अक्सर नरेंद्र मोदी की नकल करते भी दिखाई देते हैं। अब उन्होंने मोदी की ही स्टाइल में बोलना भी शुरू कर दिया है।

इसे भी पढ़िए: बनियाखेड़ा में पीड़ित परिवार से मिले अखिलेश, भाजपा सरकार को बताया नकारा

बैठक में ट्रंप ने कहा जो बात भारतीय प्रधानमंत्री मोदी ने कही है, इससे साबित होता है कि दुनिया अमेरिका को किस नजर देखती है। आपको बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप कई बार दूसरों की नकल उतारने के चक्कर में विवादों में भी घिर चुके हैं। बीते साल अक्टूबर में उन्होंने तूफान मारिया से प्रभावित लोगों के बारे में बताते हुए पर्टो रेकन की नकल उतारी थी।

राष्ट्रपति चुनाव के दौरान भी उन्होंने एक कॉल सेंटर से आए हुए एक फोन का जिक्र करते हुए भारतीयों के अंग्रेजी बोलने के लहजे का मजाक उड़ाया था। उन्होंने इसको ‘धूर्त बैंकिंग’ कहा था। हालांकि राष्ट्रपति बनने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी को सच्चा बताया है। पिछले कुछ सालों में दोनों नेताओं ने सौहार्दपूर्वक संबंध बनाए हैं। वे अक्सर फोन-ट्विटर के माध्यम से संवाद करते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper