लोड अधिक होने का हौवा बनाकर लेसा कर्मचारी उपभोक्ताओं से कर रहे हैं अवैध वसूली

लखनऊ : लेसा के अहिबरनपुर उपकेंद्र पर तैनात अवर अभियंता से सांठगांठ कर कुछ प्राइवेट कर्मचारी कई इलाकों में उपभोक्ताओं को डरवा धमका उनसे धनउगाही कर रहे हैं। जिसके चलते इन कर्मचारियों के हौसले बुलंद हैं। बताया जाता है कि इन कर्मचारियों ने ट्रांसगोमती क्षेत्र के कुछ इलाके चिन्हित कर रखे हैं।

इन क्षेत्रों में त्रिवेणीनगर, खदरा, ब्रम्हनगर, सीतापुर रोड की मार्किट प्रमुख हैं। जिन क्षेत्रों में रोजाना ये बिजली कर्मचारी घूम घूमकर लोगों के दरवाजे खटखटाते हैं और बाद में अगर उपभोक्ता नहीं फंसते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाती है।बताया जाता है कि यह अवैध वसूली चेकिंग अभियान के नाम पर अवैध उगाही कर रहे है।

सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार बिजली विभाग के उपखंड अधिकारी के इशारे पर कुछ प्राइवेट कर्मी कालोनियों ,मोहल्लों , मार्किट में अपनी पूरी टीम के साथ जाते है और कंज्यूमर से बिल जमा के लिए मालूम करते है और कहते है आप का बिल बकाया है। आप के मीटर पर लोड है आदि बातें कहकर कंज्यूमर पर प्रेसर बनाने का कार्य करते है। कालोनी वासियो का कहना है कि जब बिजली विभाग के कर्मचारीयों से आई कार्ड मागां जाता है तो बदसुलुकी करते है। यहाँ तक के घरेलू महिलाओं को जेल भेजवाने जैसी धमकी देते है और उपखंड अधिकारी का नाम पर धन उगाही करते हैं. बताया जाता है कि उपभोक्ताओं से वसूली करने के लिए उन पर दबाव डालने के लिए बिजली चोरी करते हो बिल कम आ रहा है या मीटर में गडबड है। मुकदमा हो जायेगा कोर्ट के चक्कर काटने पड़ेंगे हम अधिकारियो से बात कर लेगे। आप डरो मत, बस कुछ सेवा पानी करना पड़ेगा। बेचारा गरीब कंज्यूमर डर की वजह से बिजली विभाग के कर्मियों को डर की वजह से खर्चा पानी दे देते है।

मालूम हो कि हाल ही में मंदिर की लाइन काटने के बाद विद्यावती के तीन लाख तेरह सौ के बकाये की कटी लाइन को 15 हजार रुपये में बिजली बहाल कर गाढ़ी कमाई की गई। मीडिया में बार-बार लगातार खबर के बाद भी लखनऊ लेसा के जिम्मेदार अधिकारी अपनी आँखें बंद किये बैठे है। फिलहाल उपभोक्ताओं का कहना है कि बिना अधिकारियों से सांठगांठ किये ये संभव नहीं है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper