IMF भी हुआ भारत की वैक्सीन डिप्लोमेसी का कायल

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष यानी आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथन ने कोरोना वायरस से निपटने की नीतियों और वैक्सीन डिप्लोमेसी को लेकर भारत की जमकर तारीफ की है और कहा कि कोरोना से जंग में भारत सच में अलग और सबसे आगे रहा है। कोरोना वायरस के इस संकट के दौर में भारत ने जिस तरह से पूरी दुनिया में मानवता की मिसाल पेश की है, उसका कायल आज कई देशों से लेकर अंतरराष्ट्रीय संस्थाएं हैं।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आयोजित डॉ हंसा मेहता व्याख्यान के उद्घाटन के दौरान एक इंटरैक्टिव सेशन में गीता गोपीनाथ ने कहा कि भारत ने वास्तव में अपनी वैक्सीन नीती के संबंध में उल्लेखनीय कार्य किया है। अगर आप वास्तव में देखेंगे दुनियाभर में वैक्सीन का एक विनिर्माण हब कहां है, तो यह आपको भारत में ही मिलेगा। गौरतलब है कि भारत ने कोरोना वायरस वैक्सीन की करीब 56 लाख से अधिक खुराकें नेपाल, भुटान, मालदीव, म्यांमार, श्रीलंका समेत कई देशों को गिफ्ट की है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper