Jet Airways के मालिक नरेश गोयल मनी लॉन्ड्रिंग केस में हिरासत में, ED ने की छापेमारी

मुंबई: मुंबई में जेट एयरवेज के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल के घर प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) का छापा पड़ा है।इस छापेमारी में कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले को लेकर नरेश गोयल के हिरासत में लिया गया है।अधिकारियों ने कहा कि जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल और कुछ अन्य लोगों को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी ने हिरासत में लिया है।

प्रवर्तन निदेशालय ने कथित मनी लॉन्ड्रिंग जांच के सिलसिले में बुधवार देर रात जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल के मुंबई घर पर छापा मारा। ईडी ने एक ट्रैवल कंपनी द्वारा दायर एफआईआर का संज्ञान लेते हुए श्री गोयल और उनकी पत्नी अनीता गोयल पर 46 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है, गोयल्स और जेट एयरवेज के खिलाफ FIR दर्ज की है।

उन्होंने कहा कि हाल ही में मुंबई पुलिस की प्राथमिकी का संज्ञान लेने के बाद एयरलाइंस के पूर्व अध्यक्ष के खिलाफ एक आपराधिक मामला धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत दर्ज किया गया है।मुंबई पुलिस ने मुंबई की एक ट्रैवल कंपनी के खिलाफ गोयल और अन्य द्वारा कथित धोखाधड़ी के आरोपों को दर्ज किया। जांच एजेंसी, जो नरेश गोयल और जेट एयरवेज द्वारा कथित रूप से विदेशी मुद्रा उल्लंघन की जांच कर रही है, उसने धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की एक धारा के तहत गोयल का बयान दर्ज किया।

पिछले साल सितंबर में गोयल से प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने 2019 की शुरुआत में आठ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की थी, अबू धाबी के एवहद एयरवेज ने एक हिस्सेदारी के लिए $ 150 मिलियन का निवेश करने के बाद विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के कथित प्रावधानों का उल्लंघन किया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper