सीडीआर बेचने के आरोप में लेडी जेम्स बॉन्ड रजनी पंडित गिरफ्तार

ठाणे : देश की पहली महिला जासूस के नाम से फेमस रजनी पंडित गिरफ्तारी मामले में दो अन्य लोगों को बुधवार शाम ठाणे पुलिस ने अरेस्ट किया है। इस मामले में रजनी समते कुल पांच लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। रजनी पर अपने क्लाइंट के लिए गलत ढंग से कॉल डिटेल रिकॉर्ड्स (सीडीआर) प्राप्त करने, अवैध रूप से सोर्सिंग और सीडीआर बेचने का गंभीर आरोप लगा है। रजनी के अलावा पुलिस ने इस मामले में तीन अन्य लोगों को भी अरेस्ट किया है। बता दें कि रजनी को लेडी जेम्स बॉन्ड के नाम से भी जाना जाता है।रजनी के मुताबिक वे अब तक 75 हजार से ज्यादा केस सॉल्व कर चुकी हैं।

ठाणे की रहने वाली रजनी (54) पूर्व पुलिस अधिकारी की बेटी हैं। पुलिस ने समरेश झा नाम के एक जासूस को गिरफ्तार करने के बाद उन्हें उनके घर से गिरफ्तार किया। समरेश ने पुलिस को बताया था कि वह इन कॉल डिटेल्स को रजनी के कहे अनुसार सोर्स करता था और इसे मोटी कीमत में बेचते थे। ठाणे पुलिस के मुताबिक रजनी पर पांच लोगों के लिए सीडीआर जमा करने और उन्हें ऊंचे दाम पर बेचने का आरोप है।ठाणे पुलिस प्रमुख परम बीर सिंह ने बताया कि पंडित की भूमिका इस रैकेट में स्पष्ट रूप से सामने आई है। जो लोग घोटाले में शामिल हैं, देश के किसी भी कोने में छिपे हों बख्शे नहीं जाएंगे।

दो अन्य जासूस भी हुए अरेस्ट

रजनी के साथ दो अन्य जासूस संतोष पंडगले (34) और प्रशांत सोनावाणे (34) को नवी मुंबई से अरेस्ट किया गया है। रजनी का बयान दर्ज कर लिया गया है और उनसे पूछताछ जारी है। गिरफ्तार जासूसों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर ही यह पता चला की रजनी अपने ग्राहकों से सीडीआर के लिए मोटी रकम वसूलती थीं।इसी मामले में पुलिस ने दिल्ली के एक व्यक्ति पर जीरो एफआईआर दर्ज की है जो आरोपियों को लगातार सीडीआर उपलब्ध कराता था। पर पिछले 25 सालों में 75,000 से ज्यादा मामलों को सुलझा चुकीं रजनी पंडित दूसरी कहानी कहती हैं। वह भारत की पहली महिला जासूस कही जाती हैं। उन्हें देश का वुमन जेम्स बॉन्ड भी कहा जाता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper