चारा घोटाले में लालू, जगन्नाथ को 5 साल की जेल

रांची: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने बुधवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद और जगन्नाथ मिश्रा को चारा घोटाले के एक मामले में पांच साल कारावास की सजा सुनाई। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एस.एस. प्रसाद ने चाईबासा कोषागार से 1992-92 में 33.67 करोड़ रुपये धोखाधड़ी से निकालने के मामले में यह फैसला सुनाया।

चारा घोटाले का यह तीसरा मामला था, जिसमें राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद को दोषी करार दिया गया, जबकि जगन्नाथ मिश्रा को दोषी ठहराए जाने का यह दूसरा मामला था। लालू प्रसाद पहले से ही रांची की बिरसा मुंडा जेल में साढ़े तीन साल कारावास की सजा काट रहे हैं। यह सजा चारा घोटाले में देवघर कोषागार से धोखाधड़ी से पैसे निकालने को लेकर 23 दिसंबर, 2017 को दोषी करार दिए जाने के बाद छह जनवरी को सुनाई गई थी।

आपको बता दें कि चर्चित चारा घोटाले के एक मामले में रांची की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने बुधवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद को दोषी करार दिया जिसके बाद उनके बेटे और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि भले ही अदालत ने लालू को दोषी माना हो, लेकिन बिहार की जनता आज भी लालू को ‘हीरो’ मानती है।

उन्होंने यह भी कहा कि इस मामले में उन्हें (लालू) फंसाया गया है और वे इस मामले को लेकर उच्च न्यायालय और सर्वोच्च न्यायलय तक जाएंगे। राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले के चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने लालू को दोषी करार दिया है। संभावना जताई जा रही है कि अदालत इस मामले में बुधवार को ही सजा सुना सकती है।

अदालत द्वारा लालू को दोषी करार दिए जाने के बाद यहां संवाददाताओं से चर्चा करते हुए तेजस्वी ने कहा, “हम इस मामले को आगे उच्च न्यायालय और सर्वोच्च न्यायलय लेकर जाएंगे।” तेजस्वी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भ्रष्टाचार का पितामह बताते हुए कहा, “मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भाजपा के साथ मिलकर लालू को फंसाया है। इन लोगों का ‘टारगेट’ लालू यादव हैं। नीतीश बिहार के विकास के लिए नहीं बल्कि लालू को कैसे सजा और दी जाए यह तय करने के लिए बार-बार दिल्ली जाते हैं।”

उन्होंने स्पष्ट कहा, “लालू को फंसाने में भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक स्ांघ के लोग उतने दोषी नहीं हैं, जितने नीतीश कुमार दोषी हैं।” उन्होंने यह भी कहा कि नीतीश कुमार और भाजपा लोकसभा के साथ ही बिहार विधानसभा का चुनाव भी 2018 के अंत में करा लेना चाहते हैं। इसी के लिए यह सब तैयारी चल रही है। तेजस्वी ने हालांकि यह भी कहा कि बिहार की जनता उनके साथ है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper