चंद्र ग्रहण 31 जनवरी को, होगा सुपर मून का दीदार

द लखनऊ ट्रिब्यून ब्यूरो : 31 जनवरी इस बार कुछ खास रहने वाली है, क्योंकि इस दिन होने वाले चंद्र ग्रहण के समय सुपर मून दिखेगा। 2018 में दो बार चंद्र ग्रहण लगेगा। खगोलशास्त्रियों का कहना है कि पहला चंद्रग्रहण 31 जनवरी को, जबकि दूसरा 27-28 जुलाई को लगेगा। दोनों की चंद्रग्रहण भारत समेत कई देशों में देखे जा सकेंगे।

भारत में इस समय दिखेगा
31 जनवरी को लगने वाला चंद्र ग्रहण खग्रास चंद्र ग्रहण होगा और इसका सूतक काल शाम 4.21 बजे से रात 9.38 तक होगा। भारत में यह ग्रहण शाम 6.21 से रात 9.38 तक देखा जा सकेगा।

क्या है सुपर मून
चंद्रमा, पृथ्वी की परिक्रमा करती है, जिसका पथ अंडाकार है। इस वजह से चंद्रमा एक समय पृथ्वी के काफी नजदीक आ जाता है। इसके चलते कोई ऐसी पूॢणमा, जिसमें चंद्रमा और पृथ्वी की दूरी काफी कम होती है, चंद्रमा ज्यादा बड़ा और चमकता दिखाई देता है। इस स्थिति को ही सुपरमून कहते हैं। दरअसल, हमारी पृथ्वी, सूर्य के चारों ओर परिक्रमा करती है, जबकि चंद्रमा पृथ्वी के चारों ओर घूमता रहता है। सूर्य से जो प्रकाश निकलता है वह पृथ्वी और चंद्रमा दोनों को प्रकाशमान करता है। चंद्रमा सूर्य के प्रकाश से ही चमकता है। ऐसे में एक स्थिति बनती है जब चंद्रमा और सूर्य के बीच पृथ्वी आ जाती है। ऐसे में चंद्रमा के ऊपर पृथ्वी की परछाईं दिखाई पडऩे लगती है। इस स्थिति को ही चंद्रग्रहण करते हैं।

किसके लिए कैसा होगा यह चंद्र ग्रहण
– ग्रहण के समय चंद्रमा का लाल रंग का दिखाई देना धरती पर क्षत्रियों (आधुनिक परिपेक्ष में सेना) को कष्ट देगा।
– हिंसक घटनाओं व अग्निकांड के कारण जान-माल की हानि हो सकती है।
– चूंकि यह चंद्र ग्रहण जल तत्व की राशि कर्क में पड़ रहा है, इसलिए असामान्य रूप से वर्षा होगी।
– हिंद महासागर में चक्रवात या बड़े समुद्री तूफान की भी आशंका है।
– ग्रहण के समय चंद्रमा पर पड़ रही शुभ ग्रहों शुक्र व बुध की दृष्ठि के चलते शेयर बाजार, सर्राफा (सोने-चांदी), आभूषण और कपड़े का काम करने वालों को लाभ होगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper