एटलस साइकिल के बंद होने पर मायावती ने जताई चिंता, कहा- सरकार इस पर तुरंत ध्यान दे

लखनऊ. देश की मशहूर साइकिल कंपनी एटलस के गाजियाबाद स्थित साहिबाबाद में अपनी फैक्ट्री बंद करके के आदेश के बाद बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि सरकार को इस पर तुरंत ध्यान देना चाहिए। इस बीच इस मामले को लेकर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने भी योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार रोज एमओयू कर रही है लेकिन लोगों की नौकरियां लगातार जा रही हैं।

मायवती ने ट्वीट कर कहा कि सरकार एक ओर तो बंद पड़े उद्योगों को खोलने के लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा कर रही है जबकि कारखानें बंद होने की खबरें आ रही हैं। सरकार को इस ओर तुरंत ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा, ऐसे समय जबकि लॉकडाउन के कारण बन्द पड़े उद्योगों को खोलने के लिए आर्थिक पैकेज आदि सरकारी मदद देने की बात की जा रही है जबकि उत्तरप्रदेश के गाजियाबाद स्थित एटलस जैसी प्रमुख साइकिल फैक्ट्री के धन अभाव में बन्द होने की खबर चिन्ताओं को बढ़ाने वाली है। सरकार तुरन्त ध्यान दे तो बेहतर है।

एक अन्य ट्वीट में बसपा प्रमुख ने कहा है कि उत्तरप्रदेश में घर वापसी करने वाले लाखों प्रवासी श्रमिकों में से मात्र तीन प्रतिशत को ही कोरोना पीड़ित पाए जाने की खबर बड़ी राहत देने वाली है। खासकर तब जब कोरोना के बढ़ते रोग के लिए इन्हें ही दोषी ठहराने का प्रयास है और इसी आशंका के तहत इन मजलूमों के घर वापसी में देरी की जा रही थी।

वहीं, कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि कल विश्व सायकिल दिवस के मौके पर सायकिल कम्पनी एटलस की गाजियाबाद फैक्ट्री बंद हो गई। 1000 से ज्यादा लोग एक झटके में बेरोजगार हो रहे हैं। सरकार के प्रचार में तो सुन लिया कि इतने का पैकेज, इतने एमओयू, इतने रोजगार। लेकिन असल में तो रोजगार खत्म हो रहे हैं, फैक्ट्रियां बंद हो रही हैं। लोगों की नौकरियाँ बचाने के लिए सरकार को अपनी नीतियाँ और योजना स्पष्ट करनी पड़ेगी।

एटलस साइकिल्स (हरियाणा) लिमिटेड ने उत्तर प्रेदश के गाजियाबाद के साहिबाबाद में स्थित अपने सबसे बड़े कारखाना पर एक नोटिस चस्पा किया है। कंपनी ने कहा है कि हम कई वर्षों से भारी आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं। हमारे सभी फंड खर्च हो गए हैं। अब हमारे पास कोई अन्य आय के स्रोत नहीं बचे हैं। यहां तक दैनिक खर्चों के लिए धन नहीं है। जबतक धन का प्रबंध नहीं हो जाता तबतक कच्चे माल भी नहीं खरीदा जा सकता है। कंपनी ने कहा है कि ऐसी स्थिति में हम कंपनी चलाने में असमर्थ हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper