राज्यपाल का प्रभार ग्रहण करने से पहले आनंदीबेन ने महाकाल के दरबार में लगाई हाजिरी, लिया आशीर्वाद

भोपाल। गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने राज्यपाल का प्रभार ग्रहण करने से पूर्व बसंत पंचमी के शुभ अवसर पर सोमवार को आनंदीबेन पटेल एसी कोच बस से उज्जैन पहुंची। उन्होंने बाबा महाकाल के दर्शन-पूजन कर आशीर्वाद लिया। झाबुआ से चार्टर्ड बस से उज्जैन पहुंची आनंदीबेन ने तय कार्यक्रम के मुताबिक उज्जैन पहुंचकर महाकाल के दर्शन किये। इस दौरान उनके परिवार के सदस्य भी उनके साथ मौजूद रहे।

उन्होंने महाकाल मंदिर में पूजा अर्चना की साथ ही भगवान महाकाल का अभिषेक भी किया। मंदिर के पुजारी ने उन्हें विधि विधान से पूजा करवाया। भगवान महाकाल का पंचामृत से अभिषेक पूजन कर वसंत अर्पित किया। पूजा और अभिषेक करने के बाद उन्होंने भगवान नंदी के कान में भी कुछ कहा। इस दौरान मंदिर प्रबंधंन समिति की तरफ से उन्हें प्रसादी और पुस्तक भेंट करके सम्मान किया गया। परिसर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि मुझे मध्यप्रदेश में नई जिम्मेदारी मिली है। उसका अच्छे से निर्वहन कर सकूं, इसलिए भगवान महाकाल से आशीर्वाद लेने आई हूं।

आपको यह भी बता दें कि गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता आनंदीबेन पटेल ने मंगलवार को मध्य प्रदेश का राज्यपाल पद संभाल लिया। उन्हें मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश हेमन्त गुप्ता ने पद की शपथ दिलाई। इस मौके पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनके मंत्रिमंडल के सदस्य मौजूद थे।

आनंदीबेन मध्यप्रदेश की 27वीं राज्यपाल हैं। साथ ही प्रदेश की दूसरी महिला राज्यपाल भी हैं। उनसे पहले सरला ग्रेवाल को प्रदेश की पहली महिला राज्यपाल बनने का सम्मान प्राप्त हुआ था। 76 साल की गुजरात की ‘वीरबाला’ आनंदीबेन पटेल ने एक नई परम्परा की शुरुआत की है। वीरबाला उनके नाम के आगे इसलिए जुड़ता है क्योंकि गुजरात में उन्हें वीरबाला पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। राजनीति में आने से पहले वह शिक्षक थीं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper