आज पंचकूला कोर्ट में हनीप्रीत की पेशी, तय नहीं होंगे आरोप

पंचकूला: साध्वियों से बलात्कार के आरोप में बाबा राम रहीम की सजा के बाद पंचकुला में हुई हिंसा मामले में हनीप्रीति समेत 15 अन्य आरोपियों के खिलाफ दाखिल चार्जशीट पर आज पंचकुला कोर्ट सुनवाई हुई। लेकिन आज हनीप्रीत पर आरोप तय नहीं किए जाएंगे। गौरतलब है कि सुबह 10 बजे हनीप्रीत चेहरा ढंककर पंचकूला कोर्ट पहुंची थी। कोर्ट में बचाव पक्ष के वकीलों ने कहा है कि अभियोजन पक्ष के सभी दस्तावेज़ अभी नहीं मिले हैं। ऐसे में कोर्ट ने केस के इन्वेस्टिगेशन अफ़सर को पेश होने को कहा है। उसके बाद अगली तारीख़ दी जाएगी।

हिंसा फैलाने वालों में हनीप्रीत के अलावा आदित्य इंसा, पवन इंसा, सुरेंद्र धीमान, दिलावर इंसा, दान सिंह, चमकौर सिंह और गोविंद राम का नाम भी है। गौरतलब है कि पंचकूला दंगों की पड़ताल में जुटी हरियाणा पुलिस ने २८ नवंबर को हनीप्रीत समेत १५ के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। पिछली सुनवाई के दौरान सभी आरोपियों को इसकी कॉपी सौंप दी गई थी। इस चार्जशीट में हनीप्रीत समेत 15 अन्य को पंचकूला में दंगों और हिंसा की घटना के लिए आरोपी बनाया है। हनीप्रीत पर गंभीर आरोप हैं। आरोप पत्र के तीन पन्नों में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम और डेरे के 6 सुरक्षाकमियों का भी जिक्र किया है।

आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा १२१, १२१ए, २१६, १४५, १५०, १५१, १५२, १५३ और १२०बी के तहत केस दर्ज किए हैं। १२०० पन्नों की चार्जशीट में हनीप्रीत को मुख्य अभियुक्त बनाया गया। उसके खिलाफ धारा १२०ँ यानी आपराधिक साजिश रचने, १२१ यानी राष्ट्र के खिलाफ जंग छेड़ने यानी देशद्रोह और १२१A यानी आपराधिक वारदातों को अंजाम देने की साजिश रचने जैसी धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ था। हरियाणा पुलिस का दावा है कि पंचकूला हिंसा की साजिश डेरा सच्चा सौदा के हेडक्वॉर्टर में एक सीक्रेट मीटिंग में रची गई थी।

पुलिस ने अपनी चार्जशीट में उस सीक्रेट मीटिंग का भी जिक्र किया है जो एक बंद कमरे में हुई थी। पुलिस सूत्रों के अनुसार हनीप्रीत ने पूछताछ में डेरे से जुड़े ऐसे कई लोगों के नाम बताए थे, जो पंचकूला हिंसा की साजिश में शामिल थे। साथ ही, हनीप्रीत ने उन लोगों के बारे में भी पुलिस को खुलकर बताया था, जिनकी मदद से वो ३८ दिनों तक पुलिस के साथ आंख-मिचौली का खेल खेलती रही थी। पुलिस ने उनमें से कई लोगों को हनीप्रीत के साथ आरोपी बनाया है। उनमें से कुछ लोग हनीप्रीत के खिलाफ गवाही भी दे सकते हैं। इससे पहले कल पंचकूला पुलिस ने हिंसा के एक और आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। राम रहीम के करीबी और डेरा के अनुयायी भंगीदास कस्तूर इंसा को सिरसा की एसआईटी टीम ने गिरफ्तार किया है। भंगीदास पर २५ अगस्त को सिरसा में हिंसा फैलाने का आरोप है।

गौरतलब है कि 25 अगस्त 2017 को जब सीबीआई की विशेष अदालत ने राम रहीम को बलात्कार का दोषी करार दिया था तब अचानक पंचकूला और सिरसा समेत हरियाणा और पंजाब के कई शहरों में भयानक हिंसा फैल गई थी। पथराव और आगजनी की कई घटनाएं हुईं थीं। उस वक्त यही सबसे बड़ा सवाल था कि आखिर इस हिंसा के पीछे कौन है। पुलिस ने जांच के बाद जो चार्जशीट दायर की उससे खुलासा हुआ कि इस हिंसा की मास्टरमाइंड और कोई नहीं बल्कि राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper