फूलपुर, गोरखपुर उपचुनाव – सरकारी दफ्तरों में लगेंगी बाबा साहब आंबेडकर की तस्वीर 

दिल्ली ब्यूरो : राजनीति में पाखंड  है या फिर पाखंड ही राजनीति है इस पर बहुतेरे शोध हुए लेकिन सही उत्तर आजतक सामने नहीं आया। कहा गया कि राजनीति पूरी तरह पाखंड पर ही आधारित होती है और पाखंड के सिवा राजनीति की कल्पना बेकार है। और दूसरा सच ये भी है कि जनता बहुत कुछ जानते हुए भी राजनीति का शिकार होती है लोभ, मोह और लालच बस। उधर पुरे देश में मूर्ति ,तस्वीर और स्मारक को लेकर राजनीति तेज है और महापुरुषों की मूर्तियां तोड़ी जा रही है इधर यूपी के दो लोकसभा सीट के लिए हो रहे उपचुनाव में जातीय वोट को हासिल करने के लिए मूर्ति तस्वीर की राजनीति को मुख्यमंत्री योगी आगे बढ़ा रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी ने सुचना सचिव को कहा है कि प्रदेश के सभी कार्यलयों में बाबा साहब आंबेडकर की तस्वीर लगाई जाय।
इस आदेश के बाद ही उत्तर प्रदेश सरकार के सभी कार्यालयों, सार्वजनिक उपक्रमों, निगमों और परिषदों के कार्यालयों व शैक्षणिक संस्थाओं में संविधान निर्माता डॉ. भीमराव आंबेडकर के चित्र लगेंगे।  योगी सरकार के इस फैसले को बसपा के वोट बैंक में सेंध मारने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है , क्योंकि राज्य में गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव होना है।

वैसे आपको बता दें कि बहुजन समाज पार्टी और अन्य दलों द्वारा अरसे से बाबा साहेब भीमराव आंबेडकरकी तस्वीरें सरकारी विभागों में लगाने की मांग की जा रही थी। अभी तक सरकारी विभागों में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की फोटो लगती है। राज्य में बसपा की चार बार सरकार बनी, लेकिन बाबा साहेब की तसवीर लगाने का फैसला नहीं हो सका।  लेकिन पिछले साल राज्य में भाजपा की सरकार बनने के बाद योगी सरकार ने इसके लिए बड़ा फैसला लिया।  अब योगी सरकार ने इसके लिए शासनादेश जारी कर दिया है।  प्रमुख सचिव सूचना अवनीश अवस्थी ने बुधवार को सभी अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव, प्रमुख सचिव विधानसभा व विधान परिषद, सभी मंडलायुक्त और जिलाधिकारियों को भेजे गए निर्देश में मुख्यमंत्री की घोषणा का संदर्भ लेने को कहा है जिससे देश भर में इस समय महापुरुषों की प्रतिमा और उनके नाम को लेकर सियासत तेज हो गई है।

बता दें कि राज्य में गोरखपुर और फूलपुर में लोकसभा के उपचुनाव होने हैं और यहां पर 11 मार्च को मतदान है।  लिहाजा चुनाव से ठीक पहले आंबेडकर की फोटो सरकारी कार्यालयों में लगाने के फैसले से विपक्ष की नींद उड़ गयी है।  उपचुनाव में बसपा राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी समाजवादी पार्टी को समर्थन दे रही है।  बसपा भारत रत्न बाबा साहेब को अपना आदर्श मानती है।  लिहाजा योगी सरकार के इस बड़े फैसले के बाद बसपा के वोट बैंक में सेंध लगाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। अब तस्वीर लगाने की राजनीति बीजेपी को कितना लाभ पहुंचा पाती है इसे चुनाव के वक्त देखने की जरूरत होगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper