PM मोदी ने यूक्रेन संकट पर ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन से की फोन पर चर्चा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने आज ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन (UK PM Boris Johnson) से फोन पर बात की। उन्होंने यूक्रेन की स्थिति (status of ukraine) पर विस्तृत चर्चा की। इस दौरान पीएम मोदी ने विवाद को समाप्त करने और बातचीत व कूटनीति के रास्ते पर लौटने के लिए भारत की लगातार अपील को दोहराया।

वहीं ब्रिटेन के पीएम ने ट्वीट कर कहा, “आज नरेंद्र मोदी और मैंने यूक्रेन की गंभीर स्थिति के बारे में बात की और सहमति व्यक्त की कि इसकी संप्रभुता का सम्मान किया जाना चाहिए। यूके-भारत संबंध लगातार मजबूत होते जा रहे हैं, और हम आने वाले हफ्तों और महीनों में अपने व्यापार, सुरक्षा और व्यावसायिक संबंधों को मजबूत करेंगे।”

भारत के प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी प्रेस रिलीज के मुताबिक पीएम मोदी ने सभी पक्षों के इंटरनेशनल कानूनों का सम्मान करने को कहा। प्रेस रिलीज में कहा गया, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यूनाइटेड किंगडम के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ फोन पर बात की। पीएम मोदी ने समकालीन विश्व व्यवस्था के आधार के रूप में अंतरराष्ट्रीय कानून और सभी राज्यों की क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता के संबंध में भारत के विश्वास पर जोर दिया।”

दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय हितों के मुद्दों पर भी चर्चा की और व्यापार, प्रौद्योगिकी, निवेश, रक्षा और सुरक्षा, व लोगों से लोगों के संबंधों सहित विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग को और गहरा करने की क्षमता पर सहमति व्यक्त की।

प्रधानमंत्री मोदी ने द्विपक्षीय मुक्त व्यापार समझौते पर चल रही वार्ता में सकारात्मक गति पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने पिछले साल दोनों नेताओं के बीच वर्चुअल समिट के दौरान अपनाए गए ‘इंडिया-यूके रोडमैप 2030’ को लागू करने में हुई प्रगति की भी सराहना की।

प्रधानमंत्री मोदी ने आपसी सुविधा के अनुसार, जल्द से जल्द भारत में पीएम जॉनसन का स्वागत करने की अपनी इच्छा व्यक्त की।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper