बेहोशी की हालत में मिले वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया, अस्‍पताल में कराया गया भर्ती

नई दिल्ली: विश्व हिन्दू परिषद ने अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया का देर रात पता चल गया है. बेहोशी की हालत में उन्‍हें अहमदाबाद के शाहीबाग इलाके के चंद्रमणि अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

तोगड़िया का इलाज कर रहे डॉ. आरएम अग्रवाल ने कहा है कि तोगड़िया को बेहोशी की हालत में भर्ती कराया गया था। उनकी शुगर कम हो गई थी और इसी वजह से वह बेहोश हो गए थे। उन्होंने बताया कि तोगड़िया को एंबुलेस अस्पताल लेकर आई थी। डॉ. अग्रवाल ने कहा है कि अब उनकी हालत पहले से बेहतर है। वीएचपी प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा है, ‘पूरे देश में कार्यकर्ता तोगड़िया को लेकर चिंतित थे। किसी को पता नहीं था कि वह कहां गए। हमने सभी कार्यकर्ताओं से धैर्य बनाए रखने की अपील की थी।’

अहमदाबाद के सोला पुलिस थाने के अधिकारी ने दावा किया था कि तोगड़िया को गिरफ्तार करने के लिए श्रीगंगानगर पुलिस ने सोला पुलिस को वारंट दिया था। लेकिन पुलिस की दबिश के दौरान तोगड़िया घर पर नहीं मिले। इससे पहले विहिप उनकी गिरफ्तारी का आरोप लगाकर प्रदर्शन कर रही थी। उसकी ओर से लापता होने की गुजरात के कई शहरों जैसे अहमदाबाद, सूरत, राजकोट और जूनागढ़ में विहिप कार्यकर्ता पुलिस से भिड़ गए। पुलिस ने तोगड़िया की गिरफ्तारी से इनकार किया था।

इससे पहले विश्व हिंदू परिषद के लगभग पचास कार्यकर्ताओं ने सोमवार को यह कहते हुए अहमदाबाद के एक थाने पर हंगामा किया कि गुजरात पुलिस ने राजस्थान की पुलिस के साथ मिलकर विहिप के अंतर्राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया को गिरफ्तार किया है। उनका कहना है कि तोगड़िया की गिरफ्तारी दस साल पुराने हत्या के एक मामले में हुई है। पुलिस ने तोगड़िया की गिरफ्तारी से साफ शब्दों में इनकार किया है।

सोलापुर थाने में कार्यकर्ताओं ने जमकर किया हंगामा

कार्यकर्ताओं ने सोला पुलिस थाने पर हंगामा किया। उनका आरोप था कि सोला पुलिस ने राजस्थान पुलिस के साथ मिलकर अहमदाबाद के पाल्दी में स्थित संगठन मुख्यालय से तोगड़िया को गिरफ्तार किया है। विहिप की अहमदाबाद शहर इकाई के महासचिव राजू पटेल ने कहा, “हमें पूरा विश्वास है कि राजस्थान पुलिस ने सुबह 10 से 11 बजे के बीच हमारे नेता प्रवीण तोगड़िया को गिरफ्तार किया है। वे लोग राजस्थान में दस साल पहले हुई हत्या के एक मामले में राज्य में तोगड़िया को खोज रहे थे।”

गांधीनगर विहिप महासचिव ने यह भी कहा था कि हमें डर है कि तोगड़िया को पुलिस फर्जी मुठभेड़ में जान से मार सकती है। तोगड़िया जिस तरह राम मंदिर और चुनावी वादों जैसे तमाम मुद्दों पर सरकार के रवैये के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं, सरकार में बैठे बहुत से लोग इसे पसंद नहीं करते और वे उन्हें (तोगड़िया को) खामोश करना चाहेंगे।

विहिप कार्यकर्ताओं ने पश्चिमी अहमदाबाद में व्यस्त सरखेज-गांधीनगर राजमार्ग पर यातायात बाधित करने की भी कोशिश की। अहमदाबाद में पुलिस का कहना है कि यह सही है कि राजस्थान पुलिस तोगड़िया की तलाश में सुबह शहर में थी लेकिन वह बिना किसी गिरफ्तारी के खाली हाथ शहर से वापस चली गई है। सोला पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर जी.एस.पटेल ने कहा कि राजस्थान पुलिस के पास तोगड़िया के नाम का सर्च वारंट था। लेकिन, कोई गिरफ्तारी नहीं हुई और वे बिना किसी को गिरफ्तार किए वापस राजस्थान लौट गए। अगर विहिप कार्यकर्ता कह रहे हैं कि तोगड़िया लापता हैं, तो हम इस मामले को देखेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper