प्रधानमंत्री ने प्रतिमाएं गिराए जाने की कड़ी निंदा की

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द् मोदी ने सोमवार को त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा गिराए जाने के बाद कई राज्यों में प्रतिमाएं ढहाए जाने की बुधवार को कड़ी निदा की। त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा ढहाए जाने के बाद तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में भी इसी तरह की घटनाएं सामने आई हैं।

इस संबंध में जारी आधिकारिक बयान के अनुसार प्रधानमंत्री देश के कई हिस्सों में प्रतिमाएं ढहाए जाने की पुरजोर निंदा करते हैं। मोदी ने इस संबंध में गृह मंत्री राजनाथ सिंह से बात की और प्रतिमाओं को ढहाये जाने के कृत्यों में शामिल लोगों के प्रति सख्त कदम उठाने को कहा।
गौरतलब है कि त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा ढहाए जाने के बाद मंगलवार रात को तमिलनाडु के वेल्लोर में द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक और समाज सुधारक ई.वी.आर.रामासामी (पेरियार) की प्रतिमा नष्ट कर दी गई थी। इसके बाद कोलकाता में हथौड़े से जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा भी तोड़ दी गई।
मोदी ने एक बयान में कहा कि उन्होंने इन प्रतिमाओं को ढहाए जाने के संबंध में राजनाथ सिंह से बात की। केन्द्गीय गृह मंत्रालय ने इन घटनाओं पर सख्त कदम उठाया है। मंत्रालय ने राज्यों से कहा है कि वे इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएं। इस तरह के कृत्यों में शामिल लोगों से सख्ती से निपटा जाना चाहिए और उन पर संबद्ध कानून के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए।
उपराष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू ने भी लोकप्रिय नेताओं की प्रतिमाओं को नुकसान पहुंचाने की घटनाओं को शर्मनाक और पागलपन बताते हुए इसकी निंदा की। नायडू का यह बयान त्रिपुरा में कथित तौर पर भाजपा समर्थकों द्बारा लेनिन की प्रतिमा को ढहाए जाने के बाद आया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper