पद्मावत को लेकर दिल्ली से लेकर गुजरात तक उत्पात, तोड़फोड़ और आगजनी

नई दिल्ली। संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ का विरोध थम नहीं रहा है। फिल्म के प्रदर्शन की तिथि जैसे-जैसे निकट आ रही है, वैसे-वैसे हिंसक घटनाएं बढती जा रही हैं। विरोध की आंच अब दिल्ली-एनसीआर से होते हुए लखनऊ तक पहुंच चुकी है। दिल्ली से सटे गुरुग्राम में रविवार को करणी सेना ने सड़क जाम और फिर एमजी रोड पर की नारेबाजी की। नोएडा में भी फिल्म को लेकर उग्र प्रदर्शन किया गया। डीएनडी फ्लाईओवर पर आगजनी और तोड़फोड़ की गई। फरीदाबाद में प्रदर्शनकारियों ने एक माल में आग लगा दी।

राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में इस फिल्म के विरोध में हाथ में तलवार लेकर स्वाभिमान रैली निकाली गई.। रैली में मध्यप्रदेश की सैकड़ों महिलाओं ने भी हिस्सा लिया। लखनऊ में भी इस फिल्म के प्रदर्शन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शनकारियों ने ‘पद्मावत’ के पोस्टर जलाने के साथ-साथ फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली का पुतला भी फूंका। पद्मावत के प्रदर्शन के विरोध में गुजरात में भी उग्र प्रदर्शन किया गया। सूरत में करणी सेना और राजपूत समाज ने थियेटर में फिल्म पद्मावत नहीं रिलीज करने की धमकी दी।

इसे भी पढ़िए: नेतन्याहू ने मोदी को कहा धन्यवाद, भारत दौरे को बताया ऐतिहासिक

विरोध को देखते हुए सौ मार्गों पर गुजरात राज्य परिवहन की बसों का संचालन स्थगित कर दिया गया है। धर्मनगरी कुरूक्षेत्र के केसल मॉल में भी कल इस फिल्म के विरोध में तोड़फोड़ और फायरिंग हुई। मॉल में दो दर्जन बाईक सवार नकाबपोशो ने जम कर आतंक मचाया। यह पूरी घटना सीसीटीवी में कैद है। इसी बीच इस विवाद में एक नया मोड़ आ गया है। गुजरात में हिंसा की घटनाओं से राजपूत समाज ने किनारा कर दिया है। राजपूत समाज के मार्गदर्शक पराक्रम सिंह जाडेजा ने कहा कि हिंसा की घटनाओं का करणी सेना और राजपूत समाज से कोई लेना देना नहीं है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper