महाराष्ट्र से राहत भरी खबर, रिकवरी प्रतिशत 47.2 हुआ

मुंबई: महाराष्ट्र इस देश में कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित राज्य है। पिछले हफ्ते ही राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या एक लाख को पार कर गई है। इन डरावने आंकड़ों के बीच हालांकि एक राहतभरी खबर भी आई है। महाराष्ट्र में कुल संक्रमितों में से 50 हजार 978 लोग रिकवर हो चुके हैं, जो कि 47.2 प्रतिशत है।

अब तक 3950 की मौत
महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा एक लाख की संख्या को पार कर चुका है। ताजे आंकड़ों के अनुसार अभी राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 1 लाख 7 हजार 958 है। रविवार को कुल 120 लोगों ने दम तोड़ा, जिसमें से 69 मुंबई से ही हैं। प्रदेश में 3950 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें से 2190 राजधानी मुंबई से हैं।

करीब 53 हजार ऐक्टिव केस
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार महाराष्ट्र में मृत्यु दर 3.65 प्रतिशत है। विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ‘राज्य में कोरोना के 53 हजार 17 ऐक्टिव केस हैं और मुंबई में 29 हजार 50 ऐक्टिव केस हैं। 5 लाख 87 हजार लोग होम क्वारंटीन हैं। जबकि 1538 इंस्टिट्यूशनल फैसिलिटी में 29 हजार 641 लोग क्वारंटीन हैं। रविवार को राज्य में 3390 नए केस दर्ज किए गए।’

21-60 ऐज ग्रुप ज्यादा प्रभावित
महाराष्ट्र में 21 से 60 साल की उम्र के लोग सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। इसके साथ ही दम तोड़ने वालों में से 70 फीसदी किसी अन्य बीमारी से भी ग्रसित थे। राज्य में सरकारी और प्राइवेट लैब में मिलाकर साढ़े 6 लाख से भी अधिक लोगों का टेस्ट किया जा चुका है। स्वास्थ्य मंत्री ने इसके साथ ही टेस्ट के लिए लैब के रेट को भी कम किए जाने का आदेश दिया है।

बता दें कि महाराष्ट्र में राजधानी मुंबई के बाद ठाणे, पुणे, औरंगाबाद, पालघर, सोलापुर, नागपुर भी कोरोना संक्रमण से अधिक प्रभावित हैं। हमारे सहयोगी अखबार मुंबई मिरर से बातचीत में मुख्य सचिव अजॉय मेहता ने बताया कि अब आगे कोरोना की स्पीड इस बात पर निर्भर करेगी कि लोग नियमों का कितना पालन करते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper