बिहार में सियासी संग्राम के बीच राज्य सभा चुनाव में राजद के बल्ले बल्ले

दिल्ली ब्यूरो : 23 मार्च को हो रहे राज्य सभा चुनाव में राजद को लाभ होता दिख रहा है। राज्य से 6 सीटों के लिए चुनाव होने हैं। एक तरफ राजद और कांग्रेस है तो दूसरी तरफ बीजेपी और जदयू। लेकिन जो हालत है उसमे राजद को फायदा हो रहा है जबकि हानि जदयू को होता दिख रहा है।

राज्य सभा में जनता दल यूनाईटेड के 10 सांसद हैं जो घटकर अब 6 रह जाएगी। राज्य सभा में राजद के सांसदों की संख्या वर्तमान में 3 है जो बढ़कर 5 हो जाएगी। जनता दल यूनाईटेड के वर्त्तमान सांसदों में बिहार प्रदेश अध्यक्ष सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह, किंग महेंद्र प्रसाद, अनिल साहनी और अली अनवर का कार्यकाल समाप्त हो रहा है जिसमें अली अनवर बागी शरद गुट के हैं। जबकि भारतीय जनता पार्टी के तरफ से केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और धर्मेन्द्र प्रधान का कार्यकाल खत्म हो रहा है।

राज्यसभा के चुनाव में बिहार विधानसभा में विभिन्न पार्टी के मौजूदा विधायकों की संख्या के अनुसार आरजेडी और जेडीयू के झोली में 2-2 सीटें गिरेंगी। जबकि एक सीट बीजेपी के खाते में जायेगी ऐसे में दोनों केन्द्रीय मंत्री में से किसी एक को बिहार से राज्यसभा भेजा जायेगा। राजद जदयू बीजेपी के खातें में सीट जाने के बाद आखिरी सीट के लिए महागठबंधन और एनडीए के बीच मुकाबला हो सकता है।

अगर खेल ठीक रहा तो एक सीट कांग्रेस को प्राप्त हो सकता है। बिहार विधानसभा में कांग्रेस के 27 सदस्य आरजेडी के अतिरिक्त 9 विधायक सीपीआई माले के 3 और निर्दलीय 4 विधायकों की भूमिका अहम् होगी। क्यूंकि कांग्रेस के अन्दर नाराजगी और भीतरघात का भी डर सता रहा है। हालांकि 14 मार्च को आने वाले जहानाबाद और भभुआ विधान सभा के परिणाम भी काफी अहम साबित होने वाला है। अगर ये परिणाम महागठबंधन के पक्ष में गए तो कांग्रेस को लाभ होगा वरना एनडीए ही एक सीट पर बाजी मार लेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper