अराजकता की भेंट चढ़ा उत्तर प्रदेश, कानून व्यवस्था का बुरा हाल: सपा

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी ने कहा कि है कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था का बुरा हाल है। बिना पुलिस मुखिया के कई दिनों से सरकार चल रही है। इस वक्त जो अपराधिक घटनाएं हो रही हैं उससे यह धारणा बनती है कि उत्तर प्रदेश में सरकार नाम की कोई संस्था ही नहीं रह गई है। लोकतंत्र में इससे बुरी स्थिति कभी नहीं रही। उत्तर प्रदेश अराजकता की भेंट चढ़ गया है। यहां जंगलराज है। किसी भी महिला-पुरूष का सम्मान और जानमाल सुरक्षित नहीं है। महिलाएं तो दिन में भी घर से बाहर निकलते हुए डरती हैं।

राजेंद्र चौधरी आज पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में एक प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर एसआरएस यादव भी उपस्थित थे। चौधरी ने कहा प्रदेश के महामहिम राज्यपाल महोदय ने भी माना है कि कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार की जरूरत है। अब तो राजभवन को तय करना है कि क्या भाजपा सरकार अपने उत्तरदायित्व का निर्वहन कर रही है? जबकि राज्य सरकार की यह प्राथमिक जिम्मेदारी है कि कानून का राज हो और सभी की जान-माल की सुरक्षा की गारन्टी हो। 10 महीने में सरकार केवल नाम के लिए है। लूट, हत्या, अपहरण की घटनाओं में बाढ़ आ गई है। राजधानी लखनऊ में ही 24 घंटे में आधा दर्जन संगीन वारदातें हो चुकी है।

इसे भी पढ़िए: पद्मावत के विरोध में लखनऊ में करणी सेना ने किया प्रदर्शन, फूंका भंसाली का पुतला

लखनऊ में काकोरी अंतर्गत बनियाखेड़ा तथा कटौली ग्रामसभा के अलावा चिनहट के एक गांव में भीषण डकैती और नाका हिन्डोला में एक महिला बीना मेहरोत्रा की हत्या की घटनाएं 24 घंटे के अंदर हो गईं। एक पत्रकार नवलकांत सिन्हा को भी चोट पहुंचाई गई। इसके अलावा लूट की कई घटनाएं घटी है। भाजपा राज में पिछले सप्ताह ही बाराबंकी में जहरीली शराब पीने से 15 मौतें हुई और 10 लोग अंधे हो गए। चौधरी ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री और मंत्रीगण बाहर यात्राओं और महोत्सवों में लगे हैं। बच्चियां स्कूल जाने में डर रही हैं।

गत 10 महीनों में ही लड़कियों से छेड़खानी की 2 लाख से ज्यादा शिकायतें दर्ज हुई हैं। सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने की साजिशें हो रही हैं। अपराधी बेलगाम हो रहे हैं। मुख्यमंत्री जी के दावे के अनुकूल अपराधी तो प्रदेश छोड़कर गए नहीं, जनता ही प्रदेश छोड़कर जाने की स्थिति में आ गये है। भाजपा के विधायक सांसद अफसरों के घरों पर हमलावर हैं। इन लोगों ने यूपी की जनता को इतना बदनाम किया कि अमेरिका के ट्रंप प्रशासन ने अमेरिकी महिलाओं को यात्रा पर जाने से मना कर दिया है। इससे ज्यादा शर्म की बात और क्या हो सकती है।

राजेंद्र चौधरी ने कहा कि विधानसभा चुनावों के बाद से ही भाजपा में सन् 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी चल रही है। किसान की लूट हो रही है। बेकसूर नौजवान जेल भेजे जा रहे हैं। राज्य सरकार को अपने संवैधानिक दायित्व का एहसास नहीं है। अब तो पत्रकार भी सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव ने अपराध नियंत्रण के लिए यूपी डायल 100 सेवा षुरू की थी। महिलाओं के लिए 1090 वूमेन पावर लाइन सेवा थी। इन सबको भाजपा सरकार ने निष्क्रिय कर दिया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper