अलीगढ़ में गाड़ी खायी में गिरी, पुलिस की टीम सहित सात लोगों की मौत

अलीगढ़ : घने कोहरे में दबिश देकर लौट रही गाड़ी में सवार पुलिस की टीम सहित सात लोगों की मौत हो गयी. यह मौत गाड़ी के खायी में गिरने से हुई। बताया जाता है कि अतरौली क्षेत्र में आज भोर में घने कोहरे के कारण स्कार्पियो पानी भरे गड्ढे में गिर गई। जिसके कारण जवां थाने में तैनात दारोगा व सिपाही के साथ एक महिला, एक बच्चा व चालक सहित सात लोगों की मौत हो गई। पुलिस की टीम किसी गांव में दबिश देकर लौट रही थी।

पता चला है कि अपहृत छात्रा को बरेली से बरामद कर अलीगढ़ ला रही पुलिस टीम की स्कार्पियो अतरौली में छर्रा रोड पर घने कोहरे के चलते खाई में गिर गई। स्कार्पियो में सवार दारोगा-सिपाही, छात्रा व आरोपी युवक समेत सात लोगों की मौत हो गई। कोई मदद न मिल पाने के कारण ये लोग पानी से निकल नहीं सके। चालक किसी तरह बच निकला। खबर पाकर पहुंची पुलिस ने क्रेन से गाड़ी को निकलवाया गया। जवां क्षेत्र के छेरत की 14 वर्षीय मुस्कान पुत्र प्रवेश दो दिन पूर्व लापता हुई थी।

परिजनों ने बरेली के मूल निवासी एहसान पुत्र खलील पर बरगला कर भगा ले जाने का आरोप लगाते मुकदमा दर्ज कराया था। एहसान यहां हमदर्द नगर, जमालपुर में अपनी बहन के पास रह रहा था। छात्रा की बरामदगी को लेकर बजरंग दल कार्यकर्ताओंं ने शनिवार को काफी हंगामा किया। आनन-फानन में टीम गठित कर छात्रा की बरामदगी के प्रयास शुरू कर दिए। छात्रा की लोकेशन बरेली में मिल रही थी। जवां क्षेत्र की सीडीएफ चौकी इंचार्ज प्रदीप कुमार शर्मा, इसी चौकी के देवेंद्र यादव को बरेली के लिए रवाना कर दिया गया। प्राइवेट स्कार्पियो लेकर दारोगा, सिपाही आरोपी के बहन-बहनोई व जमाल पुर के ही नई को साथ लेकर शनिवार को बरेली पहुंचे। वहां से छात्रा को बरामद कर एहसान को भी हिरासत में ले लिया। गाड़ी निजी थी।

ये लोग रविवार तड़के पांच बजे छर्रा से अतरौली होकर आ रहे थे। कोहरा घना था। छर्रा रोड से गुजरते वक्त एक मोड़ पर गाड़ी अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खाई में गिर गई। खाई में पानी भरा हुआ था, जो आसपास के गांव के नाले-नालियों का था। गाड़ी पानी में पूरी तरह डूब चुकी थी। कुछ देर बाद मॉर्निंग वॉक पर निकले कुछ युवक वहां से गुजरे तो हादसे का आभास हुआ। खबर पाकर अतरौली पुलिस पहुंच गई। कुछ ग्रामीणों को पानी में स्कार्पियो दिखाई दी।

जिसके चलते क्रेन मंगवाकर स्कार्पियो को बाहर निकाला गया। उन्होंने पुलिस और को सूचित किया जहां से डॉक्टर दीपक राजपुरी अपनी सभी टीम और एंबुलेंस को लेकर मौके पर पहुंचे। पुलिस भी मौके पर आ गई और स्कार्पियों सवार लोगों को बाहर निकालने का प्रयास किया। एक-एक करके सभी साथियों को बाहर निकाल कर एंबुलेंस में डालकर पहले सीएचसी अतरौली भेजा गया। जहां हालत चिंताजनक होने के कारण लोगों को अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। दारोगा, सिपाही, छात्रा मुस्कान, एहसान, उसके बहन-बहनोई व नईम की मौत हो चुकी थी।

खबर पाकर मृतकों के परिजन पोस्टमार्टम हाउस पर पहुंचे गए। एसएसपी ने बताया कि एक युवक खेत में बेहोश मिला है, जिसे अस्पताल भेजा गया है। युवक को चालक बताया जा रहा है। मृतक दारोगा 55 वर्षीय प्रदीप बागपत के गांव बढ़ावत और सिपाही 30 वर्षीय देवेंद्र नगला हजाब सैफई, इटावा के थे।

डीजीपी ने जताया शोक
हृदय विदारक इस हादसे में डीजीपी ने गहरा शोक व्यक्त किया है। एसएसपी राजेश पांडेय ने भी शोक व्यक्त करते हुए दारोगा व सिपाही का शव राजकीय सम्मान के साथ अंतिक संस्कार की बात कही है। जो युवक बेहोश मिला है, उसका इलाज चल रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper