डीजीपी के दौरे के 6 घंटे बाद मलिहाबाद में फिर पड़ी डकैती, दो थानेदार लाइन हाजिर

लखनऊ : राजधानी लखनऊ की जनता लुटेरे बदमाशों के खौफ और साये के डर से भयभीत है। पुलिस हाथ पर हाथ धार कर बैठी हुई है. इसी का नतीजा है कि बेखौफ बदमाशों ने मलिहाबाद में डीजीपी के दौरे के छह घंटे के भीतर फिर से एक घर में धावा बोल दिया। बेखौफ बदमाशों ने क्षेत्र के अमानीगंज निवासी एक ग्रामीण के घर से असलहे के दम पर नकदी और करीब एक लाख के जेवरात लूट लिए। जबकि पुलिस हाथ मलती रह गई।

राजधानी में पड़ी डकैतियों में अब तक कोई खुलासा न कर पाने के कारण मलिहाबाद थानाध्यक्ष अरुण कुमार सिंह और चिनहट थानाध्यक्ष रवींद्रनाथ राय को लाइन हाजिर कर दिया गया है।अभी नई तैनाती नहीं हुई है।बता दें कि मलिहाबाद में लगातार पड़ रही डकैती और फिर शुक्रवार की रात हुई चोरी के बाद थानाध्यक्ष अरुण कुमार सिंह पर ये एक्शन लिया गया है। वहीं, चिनहट में हुई डकैती के मामले में अल्टीमेटम के बावजूद तयशुदा समय से खुलासा न कर पाने के कारण रवींद्रनाथ राय को लाइन हाजिर किया गया है।

मलिहाबाद थाना क्षेत्र के अमानीगंज गांव निवासी टेलर असलम गांव में आमने-सामने उसके दो घर हैं, जिनमें से एक में वह सिलाई का काम करता है। असलम ने बताया कि शुक्रवार रात वह अपनी दुकान वाले घर में था जबकि पत्नी और बेटी सामने वाले घर में सो रही थीं। करीब 12:15 बजे के आसपास जब वह लघुशंका के लिए निकला तभी घात लगाए बैठे बदमाशों ने उसे दबोच लिया। तमंचा सटाकर दो लोग उसे बाग में खींच ले गए और उससे घर में रखे पैसों और गहनों के बारे में पूछताछ की।

असलम के मुताबकि दो बदमाश उसे दबोचे रहे, जबकि दो घर में घुस आए। यहां बक्सा तोड़कर उसमें रखे 16 हजार रुपये और करीब एक लाख रुपये के गहने ले गए। उसने बताया कि कुछ देर बात गश्त पर निकली डायल 100 की गाड़ी से पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन कर चली गई। लेकिन जब सुबह तक कोई नहीं पहुंचा तो असलम ने फिर 100 नंबर डायल कर पुलिस को सूचना दी।

उसके बाद पहुंची पुलिस ने मौके की छानबीन की और असलम की तहरीर पर केस दर्ज कर लिया है। दोपहर करीब 12 बजे एसपी ग्रामीण सतीश कुमार सिंह और सीओ संतोष सिंह मौके पर पहुंचे। दोनों अफसर घटना को संदिग्ध बता रहे हैं और रात में पहुंची डायल 100 को भी नकार रहे हैं। इसे लेकर ग्रामीणों में रोष है। हालांकि, अफसरों ने जल्द ही मामले का खुलासा करने का आश्वासन दिया है।

गौरतलब है कि इस वारदात से करीब छह घंटे पहले 26 जनवरी को शाम 6:30 बजे डीजीपी ओपी सिंह, एसएसपी दीपक कुमार और एसपी ग्रामीण डॉ. सतीश कुमार सिंह मलिहाबाद थाने पहुंचे थे। यहां डीजीपी ने सिर्फ एसएसपी और एसपी ग्रामीण के साथ न केवल मीटिंग की थी बल्कि थानाध्यक्ष को भी निर्देश दिए थे। डीजीपी ने ग्रामीण इलाके में पुलिस फोर्स तैनात कर ग्रामीणों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। 25 मिनट के इस दौरे में उन्होंने पुलिस टीम को हर वक्त अलर्ट रहने का आदेश देते हुए को जल्द ही बदमाशों को पकड़ने का अल्टीमेटम दिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper