बिहार में तेज प्रताप का मंच टूटा, बाल-बाल बचे

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव का सोमवार को मंच टूट गया। इस क्रम में हालांकि तेजप्रताप को चोट नहीं लगी, लेकिन कुछ कार्यकर्ताओं को हल्की चोटें आई हैं। पुलिस के अनुसार, तेजप्रताप अथमलगोला प्रखंड के धोकल राय टोला में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान मंच से लोगों को संबोधित कर रहे थे, इसी दौरान अत्यधिक भीड़ होने के कारण मंच टूट गया और मंच पर सवार सभी नेता गिर गए।

स्थानीय कार्यकर्ताओं ने तेजप्रताप को वहां से तत्काल सुरक्षित निकाल लिए। इस घटना में तेजप्रताप कोई चोट नहीं लगी है। इस घटना के बाद सभा में अफरा-तफरी मच गई। राजद के एक नेता की मानें तो इस घटना के बाद सभा को स्थगित कर दिया गया।

वहीं, चर्चित चारा घोटाले के एक मामले में साढ़े तीन साल जेल की सजा काट रहे राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने अपने ‘ट्विटर हैंडल’ से एक कविता के सहारे विरोधियों पर इशारों ही इशारों में निशाना साधा है। लालू ने खुद को ‘बिहार का बेटा’ बताते हुए कहा कि वह जब तक रहेंगे इस मिट्टी की सेवा करते रहेंगे। उन्होंने इस दौरान खुद को ‘हिमालय’ की विशालता से भी जोड़ा।

लालू ने कविता की शैली में ट्वीट किया, ‘रौंदोगे तो हिमाला बनूंगा, विष दोगे तो शिवाला बनूंगा। उधेड़ोगे तो दोशाला बनूंगा, जलाओगे तो उजाला बनूंगा। दफनाओगे तो निवाला बनूंगा। लालू लाल है बिहार का, जन्म-जन्मांतर तक इस मिट्टी का रखवाला बनूंगा।’

लालू इन दिनों रांची की एक जेल में बंद हैं। जेल जाने के पूर्व उन्होंने अपने समर्थकों और बिहार के लोगों से ट्विटर से संदेश भेजते रहने की बात कही थी। इस दौरान उन्होंने कहा था कि उनका ट्विटर उनके कार्यालय या परिवार के लोग संचालित करेंगे, जिससे उनका संदेश लोगों तक पहुंचता रहेगा। लालू इससे पहले भी जेल में बंद रहने के बावजूद ट्विटर के जरिए विरोधियों पर निशाना साधते रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper