लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर शुरू हुआ टोल, जानिए किस गाड़ी कितना देना होगा

लखनऊ: पिछले कई महीनों से आगरा एक्सप्रेसवे पर मुफ्त में फर्राटा भर रहे लोगों की जेब पर अब बोझ बढ़ गया है। 302 किलोमीटर लंबे आगरा एक्सप्रेस-वे पर 19 जनवरी की आधी रात से टोल टैक्स पड़ना शुरू हो गया है। इस मार्ग पर चार पहिया वाहनों से 570 रुपए टैक्स लिया जाएगा। 302 किलोमीटर के इस एक्सप्रेसवे को यह अखिलेश यादव ने मात्र 22 महीने में ही बनवा दिया था।

टोल टैक्स की दरें
– कार, जीप, वैन और हल्के वाहनों के लिए 570 रुपए।
– हल्के व्यवसायिक वाहन, हल्के माल यान और मिनी बस के लिए 905 रुपए
– बस व ट्रक के लिए 1815 रुपए
– 12 टायरा और भारी वाहन के लिए 2785 रुपए
– विशाल आकार के वाहनों के लिए 3575 रुपए प्रति वाहन

 

छह महीने बाद और बढ़ेगा टोल
अभी सरकार ने सभी वाहन चालकों को राहत देते हुए निर्धारित टोल टैक्स में 25 फीसद की छूट दी है। पहले चार पहिया वाहनों से 760 रुपए तक टोल वसूला जाना था। हल्के माल वाहन या मिनी बस से 1205 रुपए लिए जाने थे। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर चलने वाले दोपहिया वाहनों से भी टैक्स वसूलने की तैयारी है।

दूरी के हिसाब से चुकानी होगी कीमत
लखनऊ से आगरा जाने के दौरान अगर कोई बीच में किसी जगह पर एक्सप्रेसवे से उतरता है तो उससे एक्सप्रेसवे के एंट्री पॉइंट पर उस जगह तक का टोल लिया जाएगा। इसके अलावा अगर कोई वाहन चालक जमा किए गए टोल से आगे जाता है तो जहां वह एक्सप्रेस-वे छोड़ेगा, वहां उससे बकाया टैक्स वसूला जाएगा। इसके लिए एक्सप्रेसवे पर दो मेन टॉल प्लाजा और 7 इंटरचेंज हैं। इसके लिए वाहन चालक हरदोई, उन्नाव के लिए बांगरमऊ के इंटरचेंज से एक्सप्रेसवे पर चढ़ सकेंगे। इसके बाद कानपुर और कन्नौज में इंटरचेंज हैं। तिरवां का इंटरचेंज फर्रुखाबाद, मूंज का इंटरचेंज इटावा, करहल का इंटरचेंज मैनपुरी और बटेसर का इंटरचेंज आगरा और फिरोजाबाद को जोड़ेगा। इसके अलावा एक्सप्रेस-वे पर चलने वाले यात्रियों की सुरक्षा का भी विशेष ख्याल रखा गया है। इसके लिए 9 पुलिस चौकियां बनाई जाएंगी और डॉयल-100 की गाडिय़ां पेट्रोलिंग करेंगी। साथ ही एक्सप्रेसवे से गुजरने वाले ट्रक ड्राइवरों को यूपीडा की ओर से रात के समय एक चाय मुफ्त दी जाएगी, ताकि गाड़ी चलाते समय ड्राइवरों को नींद न आए।

अब तक का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे
– लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे देश का सबसे लंबा छह लेन वाला एक्सप्रेसवे है।
– इसपर बने पुल, पुलिया, अंडरपास और अन्य स्ट्रचर आठ लेन के हैं।
– गंगा, यमुना नदी पर आठ लेन पुल है। यह एडवांस ट्रैफिक मैनेजमेंट से तैयार किया गया है।
– इस एक्सप्रेसवे पर लड़ाकू विमानों के उतरने के लिए 3.3 किलोमीटर की हवाई पट्टी बनाई गई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper