इराक में तुर्की की 16 महिलाओं को फांसी, जानिये क्या है अपराध

द लखनऊ ट्रिब्यून ब्यूरो : इराक की एक अदालत ने तुर्की की 16 महिलाओं को फांसी की सजा सुनाई है। इनका जुर्म यह था कि इन्होंने आतंकी संगठन ISIS ज्वाइन किया था। अगस्त में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन शुरू करने के बाद से ही इराकी सेना अब तक सैकड़ों महिलाओं को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर चुकी है।

अधिकारियों ने बताया कि अबतक करीब 1700 महिलाओं को आईएस की मदद के लिए पकड़ा जा चुका है। सेंट्रल क्रिमिनल कोर्ट के जज अब्दुल-सत्तार अल-बिर्कदार के मुताबिक, सजा का एलान तब किया गया जब ये साबित हो गया कि महिलाएं ISIS आतंकियों से जुड़ी हैं। कोर्ट के फैसलों पर अपील की जा सकती है।

इराक और सीरिया में आईएस के कब्जे के बाद से ही हजारों विदेशी नागरिक आतंकी बनने के लिए इन देशों में आ चुके हैं। 2014 से ही कई विदेशी महिलाएं भी इस संगठन के साथ जुड़ चुकी हैं। अगस्त में इराकी सेना के ऑपरेशन के बाद करीब 1300 महिलाओं ने अपने बच्चों के साथ सरेंडर कर दिया था। देश से आईएस के पैर उखड़ने के बाद अबतक करीब 1700 विदेशी महिलाएं सेना के सामने सरेंडर कर चुकी हैं या गिरफ्तार हुई हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper