यूपी की सेल्फी क्वीन बी. चन्द्रकला संभालेंगी मोदी के ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की कमान

अश्वनी श्रीवास्तव


लखनऊ : यूपी की सेल्फी क्वीन कही जाने वाली साल 2008 बैच की आईएएस बी चन्द्रकला अब पीएम मोदी के स्वच्छ भारत अभियान का ड्रीम पूरा करेंगी. इसी के चलते उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान टीम में शामिल किया गया है. मालूम हो कि तेलंगना कि रहने वाली चन्द्रकला ने साल 2008 बैच कि आईएएस परीक्षा पास करने के बाद से यूपी में कार्यरत हैं. कई जिलों में कलेक्टर के पद पर तैनाती के दौरान उन्होंने ऐसे काम किये, जिनके चर्चे यूपी में ही नहीं बल्कि आस-पास के राज्यों में भी समय-समय पर होते रहते हैं. उनके इन्हीं कामों के चर्चे सुनकर पीएम मोदी ने उन्हें अपने ड्रीम प्रोजेक्ट की टीम में शामिल किया है.

गौरतलब है कि गुजरात और हिमांचल प्रदेश के चुनाव के बाद अब पीएम मोदी की निगाहें साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव पर टिकी हुई हैं. इस चुनाव से पहले मोदी राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150वीं जयंती पर उनके द्वारा देखा गया ‘स्वच्छ भारत अभियान’ का सपना उन्हें श्रद्धांजलि के रूप में समर्पित करना चाहते हैं. जिसके चलते पीएम मोदी ने अपनी इस टीम में शामिल सरकारी अफसरों को जन जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से इस पहल को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए प्रोत्साहित करने का भी निर्देश दिए हैं.

स्वच्छ भारत अभियान से संबंधित हाल ही उनके द्वारा कराये गए विकास से खुश होकर मेरठ की जिलाधिकारी बनी बी चंद्रचला को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टीम में शामिल किया गया हैं. दरअसल काम के प्रति उनकी ईमानदारी को देखते हुए ही प्रधानमंत्री ने उन्हें तोहफा देते हुए अपनी टीम में शामिल किया है. इसी का नतीजा है कि चंद्रक़ला को स्वच्छ भारत अभियान के निदेशक और उप सचिव, पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय में तैनाती दी गयी है. चंद्रकला ने बड़े पैमाने पर बिजनौर, बुलंदशहर और मेरठ में जिला मजिस्ट्रेट रहते हुए स्वच्छ भारत अभियान के लिए बड़े पैमाने पर काम किया है। बाद में केंद्र सरकार ने बिजनौर को एक ‘ओपन डेफकेशन फ्री’ जिले बनाने के प्रयासों की सराहना की।

मेरठ के 109 ग्राम पंचायत, बिजनौर सहित, को भी उनके प्रयासों के कारण ‘ओपन डेफकेशन फ्री’ घोषित किया गया था। ग्राम प्रधान भी सम्मानित थे। 2014 में, 2008 के बैच के उत्तर प्रदेश कैडर की आईएएस अधिकारी चंद्रकला को सोशल मीडिया में ख्याति मिलने के बाद सार्वजनिक तौर पर उप-मानक सड़क निर्माण और अन्य सिविल कार्यों के लिए नागरिकों ने अधिकारियों और ठेकेदारों को खींच लिया था.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper