UP Budget 2021-22: कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के लिए 597 करोड़ रुपये की व्यवस्था, 31 जुलाई से होगा कानपुर मेट्रो का ट्रायल

लखनऊ: योगी सरकार ने अपने कार्यकाल का आखिरी बजट पेश किया। बजट में शहरों के विकास का काफी ध्यान रखा गया। स्मार्ट सिटी के लिए चयनित 10 शहरों के लिए बजट आवंटित करने के लिए साथ ही कई शहरों के अलग से प्रावधान किया गया। अयोध्या के विकास के लिए 140 करोड़ रुपये का ऐलान हुआ तो वहीं कानपुर, लखनऊ, बुंदेलखंड, नोएडा और आगरा समेत कई शहरों को सौगात मिली। जानिए योगी सरकार के बजट में आपके शहर के लिए क्या खास रहा-

अयोध्या को क्या मिला?
-योगी सरकार ने बजट 2021-22 में अयोध्या से संबंधित कई ऐलान किए।
-अयोध्या में सूर्यकुंड के विकास सहित अयोध्या के सर्वांगीण विकास योजना के लिए 140 करोड़ रुपये की व्यवस्था का प्रस्ताव।
– इसके अलावा अयोध्या धाम तक पहुंच मार्ग के लिए 300 करोड़ की व्यवस्था की गई।
-अयोध्या में पर्यटन सुविधाओं के विकास और सौंदर्यीकरण के लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई।
-अयोध्या में निर्माणाधीन एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा रखने का ऐलान किया गया। इसके लिए 101 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई।

बुंदेलखंड को क्या मिला?
-बजट में विशेष क्षेत्र कार्यक्रम में बुंदेलखंड क्षेत्र की विशेष योजनाओं के लिए 210 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित किया गया।

-इसके अलावा दूसरी योजनाओं के लिए अलग से 10 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई।
-बुंदेलखंड में भी रक्षा इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर की स्थापना का लक्ष्य रखा गया है।
-बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे परियोजना के लिए 1492 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित।

लखनऊ को क्या मिला?
-लखनऊ में राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल के निर्माण के लिए 50 करोड़ रुपये की व्यवस्था।
-इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी ऐंड इंफेक्शस डिसीजेज के अंतर्गत बायो सेफ्टी लेवल 4 की लैब की स्थापना का लक्ष्य।
-पीजीआई में उन्नत मधुमेह केंद्र की स्थापना का ऐलान।
-लखनऊ में एयरपोर्ट के सामने नादरगढ़ क्षेत्र में 40 एकड़ क्षेत्रफल में पीपीई मॉडल पर अत्याधुनिक सूचना प्रोद्योगिकी कॉम्प्लेक्स का निर्माण प्रस्तावित।
-लखनऊ में यूपी जनजातीय संग्रहालय के निर्माण के लिए 8 करोड़ रुपये और शाहजहांपुर में स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय की वीथिकाओं के लिए 4 करोड़ रुपये की व्यवस्था का प्रस्ताव।

बजट में नोएडा के लिए क्या खास?
-जेवर एयरपोर्ट के पास यमुना एक्सप्रेसवे एक इलेक्ट्रॉनिक सिटी की स्थापना की जाएगी।
-जेवर अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के लिए 6 रनवे बनाए जाएंगे।
-इस बार जेवर एयरपोर्ट के लिए 2000 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया है।

-एयरपोर्ट बनने के बाद यहां विकास की बयार बहने के साथ ही रोजगार के नए अवसर भी पैदा होंगे।

गाजियाबाद के लिए क्या ऐलान
दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर के निर्माण के लिए 1326 करोड़ रुपये की व्यवस्था।
गोरखपुर और दूसरे शहरों में मेट्रो रेल परियोजना के लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था।

प्रयागराज के लिए बजट में ऐलान
प्रयागराज में राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की स्थापना का ऐलान। इलाहाबाद हाई कोर्ट के भवन निर्माण के लिए 450 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित।

मेरठ को क्या मिला तोहफा
मेरठ को स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की सौगात। मेरठ में स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की स्थापना के लिए 20 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित।

कानपुर के लिए बजट में क्या
कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के लिए 597 करोड़ रुपये की व्यवस्था। 31 जुलाई से होगा कानपुर मेट्रो का ट्रायल।

आगरा के लिए बजट में क्या है खास
आगरा मेट्रो रेल परियोजना के लिए 478 करोड़ रुपये की व्यवस्था।

पूर्वांचल के लिए बजट में क्या है खास
पूर्वांचल की विशेष योजनाओंं के लिए 300 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित किया गया।
पूर्वांचल एक्सप्रेस वे परियोजना के लिए 1107 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित।

गोरखपुर के लिए बजट में खास
गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे परियोजना के लिए 860 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित की गई।
गंगा एक्सप्रेस वे परियोजना के भूमि ग्रहण के लिए 7200 करोड़ रुपये और निर्माण कार्य के लिए 489 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित
किया गया।

वाराणसी को बजट से क्या मिला
वाराणसी में पर्यटन सुविधाओं के विकास और सौंदर्यीकरण के लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित।
मेट्रो रेल परियोजना के लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था

चित्रकूट को बजट से क्या मिला
चित्रकूट में पर्यटन विकास की विभिन्न योजनाओं के लिए 20 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित।
विन्ध्याचल और नैमिषारण्य में स्थल विकास के लिए 30 करोड़ रुपये की व्यवस्था।

इन जिलों को मिलेंगे एयरपोर्ट
राज्य में 4 इंटरनैशनल एयरपोर्ट बनाए जाएंगे। ये एयरपोर्ट लखनऊ, वाराणसी, कुशीनगर और गौतमबुद्धनगर में होंगे। अलीगढ़, आजमगढ़, मुरादाबाद व श्रावस्ती एयरपोर्ट का विकास लगभग पूर्ण। चित्रकूट, सोनभद्र एयरपोर्ट मार्च, 2021 तक पूर्ण होंगे।

स्मार्ट सिटी बनेंगे ये 10 शहर
लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, आगरा, सहारनपुर, बरेली, झांसी, मुरादाबाद, अलीगढ़ स्मार्ट सिटी योजना के लिए चयनित हुए। इसके लिए 2000 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित। इसके अलावा 10 नगर निगम वाराणसी, मेरठ, गाजियाबाद, अयोध्या, फिरोजाबाद, गोरखपुर, मथुरा-वृंदावन और शाहजहांपुर को राज्य स्मार्ट सिटी योजना के तहत स्मार्ट और सेफ सिटी के रूप में विकसित करने का निर्णय। इसके लिए 175 करोड़ की व्यवस्था की गई।

अमेठी और बलरामपुर में मेडिकल कॉलेज
अमेठी और बलरामपुर में नए मेडिकल कॉलेज का निर्माण होगा। इसके लिए 175 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित। इसके अलावा एटा, हरदोई, प्रतापगढ़, फतेहपुर, सिद्धार्थनगर, देवरिया, गाजीपुर और मीरजापुर में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज के लिए 960 करोड़ रुपये का बजट।

इन जिलों को मिलेगा नया मेडिकल कॉलेज
13 जिलों- बिजनौर, कुशीनगर, सुल्तानपुर, गोंडा, ललितपुर, लखीमपुर-खीरी, चंदौली, बुलंदशहर, सोनभद्र, पीलीभीत, औरैया, कानपुर देहात और कौशांबी में निर्माणाधीन नए मेडिकल कॉलेज के लिए 1950 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper