औषधीय गुणों से भरपूर होता है लहसुन, लेकिन इसके दुष्प्रभावों को भी अच्छी तरह समझ लीजिए

नई दिल्ली: लहसुन का इस्तेमाल हर भारतीय घर में किया जाता है। यह रोज के खाने का एक प्रमुख मसाला है। इसका इस्तेमाल भारतीय खाने में स्वाद जोड़ने के लिए किया जाता है। लहसुन अपने औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है। लहसुन का इस्तेमाल कई स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज के लिए भी किया जाता रहा है। यह सर्दी-जुकाम, हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याओं में भी मददगार साबित हो सकता है। लहसुन को डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए क्योंकि यह एक इम्यूनिटी बूस्टर के तौर पर काम करता है।

हालांकि लहसुन का सेवन ज्यादा मात्रा में करने से शरीर को कई तरह के नुकसान भी पहुंच सकते हैं। यही कारण है कि लहसुन के दुष्प्रभावों को समझना भी बहुत जरूरी है। लहसुन का सेवन जब तक कम मात्रा में किया जाए तब तक सब कुछ ठीक है लेकिन बहुत अधिक लहसुन का सेवन हमारे शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। लहसुन का अधिक मात्रा में सेवन सांस में बदबू, पेट या सीने में जलन और उल्टी का कारण बन सकता है। आइए आपको बताते हैं कि अधिक मात्रा में लहसुन के सेवन से क्या-क्या नुकसान झेलने पड़ सकते हैं।

लहसुन में कुछ ऐसे एंजाइम होते हैं जो स्किन को नुकसान पहुंचा सकते हैं। अधिक मात्रा में लहसुन खाने से स्किन इरिटेशन और रैशेज जैसी समस्याएं हो सकती हैं। यही कारण है कि लहसुन को काटते समय अपनी त्वचा का ध्यान रखें। साथ ही इसके बहुत अधिक सेवन से बचें। लहसुन का बहुत अधिक सेवन सांस में बदबू पैदा कर सकता है। यही कारण है कि लहसुन का सेवन करने के बाद माउथ फ्रेशनर का उपयोग करना चाहिए या अच्छे से कुल्ला करना चाहिए। अगर आपको पाचन संबंधी समस्‍या है तो लहसुन का प्रयोग करते समय सावधानी बरतें। खाली पेट या अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से पेट संबंधी बीमारी या लूज मोशन भी हो सकते हैं। बहुत अधिक लहसुन का सेवन उल्टी और सीने में जलन की वजह बन सकता है। कच्चे रूप में इसका सेवन अधिक न करें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper