Yes Bank के फर्जीवाड़े से शेयर बाजार की टूटी कमर, निवेशकों के डूबे करोड़ों रुपए

मुंबई। यस बैंक का फर्जीवाड़ा और कोरोना वायरस के कारण घरेलू शेयर बाजार की कमर टूट गई है। कारोबारी सत्र के पहले दिन सोमवार को बाजार बड़ी गिरावट के साथ खुला। इससे पहले शुक्रवार को भी बाजार निचले स्तर पर जाकर बंद हुआ था। इससे निवेशकों के करोड़ों रुपए डूब गए।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार को सेंसेक्स 1,129 अंक की गिरावट के साथ 36,476 पर खुला। इसके बाद भी बाजार में गिरावट का सिलसिला बना हुआ था। सुबह 10.30 बजे सेंसेक्स में 1,649 अंक की गिरावट दर्ज की गई। बाजार अभी 35,952 में चल रहा है।

इसी तरह निफ्टी में 452 अंक फिसलकर 10,539 पर कारोबार कर रहा था। कोेरोना वायरस, आर्थिक मंदी का डर और यस बैंक बंद होने से निवेशकों में आई निराशा बाजार में कोहराम मचा हुआ है।
कारोबार सत्र के दौरान निवेशकों को करोड़ों रुपए का चूना लग चुका था। इससे पहले कारोबारी सत्र के अंतिम दिन शुक्रवार को सुनामी बनकर टूटा। सेंसेक्स 894 अंकों की गिरावट के साथ 37576 पर और निफ्टी 289 अंकों की गिरावट के साथ 10980 पर बंद हुआ।

इधर, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यस बैंक के वित्तीय संकट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि मैं खाताधारकों आश्वासन दिलाना चाहती हूं कि आपका पैसा सुरक्षित है। रिजर्व बैंक गवर्नर ने मुझे आश्वासन दिलाया कि जल्द से जल्द इसका समाधान हो जाएगा, कोई नुकसान किसी खाताधारक का नहीं होगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper