आपके भी फोन में है ये 5 ऐप तो तुरंत कर दें डिलीट, वरना अकाउंट खाली होते नहीं लगेगी देर

नई दिल्ली। आज के समय में Online Fraud की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं. स्कैमर्स मोबाइल ऐप्स के जरिए भी लोगों को टारगेट करते हैं. इससे आपकी एक गलती की वजह से आपका बैंक अकाउंट खाली हो सकता है. कई सिक्यरिटी चेक के बाद भी स्कैमर्स मैलवेयर या वायरस वाले ऐप्स को गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध करवा देते हैं.

ये ऐप्स यूजर्स के पसर्नल डेटा के अलावा मोबाइल बैंकिंग डिटेल्स (mobile banking details) की भी चोरी कर लेते हैं. ये मैलवेयर वाले एंड्रॉयड ऐप्स यूजर्स की लॉगिन डिटेल्स (login details), अकाउंट नंबर और दूसरी फाइनेंशियल डिटेल्स की चोरी कर लेते हैं. आपको ऐसे 5 खतरनाक एंड्रॉयड ऐप्स को तुरंत डिलीट करने की जरूरत है.

ये ऐप्स ना केवल आपका डेटा चुरा लेंगे बल्कि उसकी मदद से आपके बैंक अकाउंट को भी खाली कर देंगे. ऐसे में आपको सावधान रहने की जरूरत है. साइबर सिक्योरिटी (cyber security) कंपनी Threat Fabric ने बताया है कि यूजर्स को इन ऐप्स से सावधान रहने की जरूरत है. ये ऐप्स थर्ड पार्टी ऐप्स पर भी उपलब्ध रहते हैं. कई बार लोग मैसेज में मिले लिंक पर क्लिक करके भी इन ऐप्स को इंस्टॉल कर लेते हैं.

ये 5 ऐप्स चुरा सकते हैं बैंकिंग डिटेल्स:-
Recover Audio, Images & Videos

Zetter Authentication

File Manager Small, Lite

Codice Fiscale 2022

My Finances Tracker

ऐसे रहें सेफ
अगर आपने भी इन Android Apps को इंस्टॉल कर रखा है तो उन्हें तुरंत अपने फोन से डिलीट कर दें. इसके अलावा सेफ्टी के लिए सभी बैंकिंग पासवर्ड और पिन को चेंज कर लें. किसी भी थर्ड पार्टी ऐप स्टोर से ऐप्स को डाउनलोड करने से बचे. इसके अलावा गूगल प्ले स्टोर से भी ऐप डाउनलोड करते समय उसके डेवलपर और रिव्यू पर जरूर ध्यान दें.

वायरस होने पर ऐसे चलेगा पता
अगर आपके फोन में वायरस होगा तो डेटा का यूज काफी बढ़ जाएगा. वायरस कई बैकग्राउंड में कई टास्क को रन करेगा और लगातार इंटरनेट से कम्युनिकेट करता रहेगा. आपके फोन की बैटरी जल्दी-जल्दी खत्म होने लगेगी. आपके फोन में अगर लगातार पॉपअप ऐड्स आ रहे हैं तो ये डिवाइस के लिए सही साइन नहीं है.

अगर आपके होम स्क्रीन पर ऐसे ऐप्स आ रहे हैं जिसे आपने डाउनलोड नहीं किया है तो आपके फोन में वायरस हो सकता है. इससे बचने के लिए आप एंटी-वायरस को डाउनलोड कर सकते हैं. अगर उससे भी ये ठीक नहीं होता है तो फैक्ट्री-रिसेट का ऑप्शन आपके पास बचता है. हालांकि, अपने एंड्रॉयड फोन को रिसेट करने से पहले इसका बैकअप जरूर ले लें.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper