इन दो क्रिकेटर्स ने कही बड़ी बात, जीतने के लिए करेंगे यह काम

हार और जीत एक सिक्के के दो पहलू होते हैं। यदि एक पक्ष ने जीत दर्ज की है, तो दूसरे का हारना तय है, लेकिन कई दफा देखने में आता है कि हार का सामना करने वाला पक्ष खुद को बेहद पिछड़ा हुआ पाता है। इसके साथ ही निराशा के बादल उसे इस कदर घेर लेते हैं कि फिर इससे उबर पाना काफी मुश्किल भरा हो जाता है। वहीं, इस हार से नई सीख लेते हुए आगे बढ़ने का जज़्बा कम ही लोगों में होता है और यही एक सच्चे खिलाड़ी की पहचान होती है।

वो कहते हैं ना कि हारने वाले की एक मुस्कुराहट, उसे जीत के रास्ते पर ले जाने का सबसे बड़ा जरिया होती है। ठीक ऐसी ही मिसाल बनकर सामने आए हैं, आईपीएल के 15वें सीज़न में उतार-चढ़ाव से गुजरने वाली टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के अहम खिलाड़ी रिद्धिमान साहा और उमेश यादव। ये दोनों टीम भावना की परिभाषा का ताना-बाना बुनते हुए हार और जीत दोनों को स्वीकारते हैं और अगली बार अपने फैंस की उम्मीदों पर खरा उतरने का वादा करने की हिम्मत रखते हैं। इतना ही नहीं, टीम और फैंस द्वारा दिए गए सहयोग और समर्थन की सराहना भी करते हैं।

साहा और यादव ने देश के अपने बहुभाषी माइक्रो-ब्लॉगिंग मंच, कू ऐप पर दिल छू लेने वाली पोस्ट्स अपने फैंस के साथ साझा की हैं।

रिद्धिमान साहा पूरी टीम और फैंस को मोटिवेट करते हुए कहते हैं:

सबसे दमदार टीम कहलाने वाली कोलकाता नाइट राइडर्स का आईपीएल में सफर जीत के बेहद करीब तक जाकर रुक गया, जिसने टीम का दिल तोड़ दिया। लेकिन साहा और यादव उन्हें अगली बार जीतने और हार से सीख लेने का भरसक प्रायस करते नज़र आ रहे हैं।

आईपीएल 2022 में कोलकाता नाइट राइडर्स ने 14 मैचों में से 6 जीत दर्ज की, जबकि 8 मैचों में उसे हार का सामना करना पड़ा। 211 रनों का पीछा करने उतरी कोलकाता नाइट राइडर्स पिछले मैच को लगभग जीत ही गई थी, लेकिन आखिरी ओवर में रिंकू सिंह का विकेट गिरने से यह सफर यहीं रुक गया। आखिरी बॉल पर कोलकाता को 3 रनों की जरूरत थी। लखनऊ ने पहले बैटिंग करते हुए बिना कोई विकेट खोए 210 रन बनाए थे, जवाब में कोलकाता की टीम 8 विकेट खोकर 208 रन बना पाई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper