क्या आपको जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट पर मिलने वाली इन मुफ्त सुविधाओं के बारे में पता है?

नई दिल्ली. आज के समय देश की एक बड़ी आबादी बैंकिंग सुविधाओं का लाभ उठा रही है। इसके अलावा देश के गरीब और सीमांत इलाकों में रहने वाले लोगों को बैंकिंग सुविधाओं से जोड़ने के लिए भारत सरकार प्रधानमंत्री जनधन योजना का संचालन कर रही है। अमूमन जब भी हम बैंक में जाते हैं। उस समय हम में से ज्यादातर लोग जीरो बैलेंस वाले सेविंग बैंक अकाउंट को ओपन कराते हैं। जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट ओपन कराने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इसमें आपको किसी प्रकार के मिनिमम बैलेंस को मेंटेन करने की जरूरत नहीं होती है।

आप एक रुपये डाले बिना भी अपने बैंक अकाउंट को चालू रख सकते हैं। वहीं क्या आपको पता है बैंक की ओर से जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट पर कई शानदार फायदे मिलते हैं। इसी कड़ी में आज हम आपको उन जरूरी सुविधाओं के बारे में बताने जा रहे हैं, जो कि आपको जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट पर मिलते हैं।

अगर आपके पास जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट है। इस स्थिति में बैंक द्वारा आपको कई तरह की सुविधाओं को ऑफर किया जाता है। इसमें आपको किसी प्रकार के मिनिमम बैलेंस को मेंटेन करने की जरूरत नहीं होती है। इसके अलावा इसमें बैंक ग्राहकों को नेट बैंकिंग की सुविधा भी मिलती है। नेट बैंकिंग की मदद से लेन देन की प्रक्रिया काफी आसान हो जाती है। वहीं जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट पर आपको कई दूसरे फायदे भी मिलते हैं।

इसमें बैंक ग्राहकों को डेबिट कार्ड, पासबुक, मोबाइल बैंकिंग, ई-पासबुक आदि सुविधाएं बिल्कुलल मुफ्त में मिलती हैं। अगर आपका बैंक में जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट है। ऐसे में आपको बैंक से मिलने वाली इन सुविधाओं के बारे में पता होना चाहिए। अगर आपके पास जीरो बैंक सेविंग अकाउंट है। ऐसे में आप उसमें अधिकतम 1 लाख रुपये तक जमा कर सकते हैं। इसके अलावा इसमें आपको FD, RD, क्रेडिट कार्ड या डीमैट खाते जैसे ऑप्शन्स नहीं मिलते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper