डायबिटीज के मरीजों के लिए जहर से कम नहीं होती ये चीजें, गलती से भी न करें इनका सेवन

लखनऊ: डायबिटीज की परेशानी लोगों में तेजी से पैर पसार रही है। जो लोग इस परेशानी से पीड़ित होते हैं, उन्हें अपनी डाइट का खास ध्यान रखना चाहिए। डायबिटीज से ग्रसित कुछ लोग ऐसी बहुत सारी चीजों का सेवन करते हैं जो उन्हें लगता है उनके लिए फायदेमंद होंगी, लेकिन ऐसा नहीं होता। आज हम आपको बताएंगे डायबिटीज के मरीजों को किन चीजों को खाने से बचना चाहिए। आइए जानते हैं क्या हैं वो चीजें…

डायबिटीज के पेशेंट्स को जमीन के नीचे उगने वाली चीजों को नहीं खाना चाहिए। उन्हें अरवी, शकरकंदी, आलू आदि के सेवन से बिल्कुल बचना चाहिए। अगर कई बार आपका मन कर भी रहा हो तो आप बहुत कम मात्रा में इसके सेवन करें। हम सब जानते हैं कि ड्राई फ्रूट का सेवन हमारे लिए अच्छा होता है, लेकिन डायबिटीज के पेशेंट्स को इससे दूरी बनाकर रखनी चाहिए। अगर आपका कभी खाने का मन कर भी रहा है तो अपनी पसंद के ड्राई फ्रूट को रात को एक कटोरी में पानी में भिगोकर रख दें। आप सुबह इन्हें खा सकते हैं।

वैसे तो जंंक फूड किसी के लिए भी अच्छा नहीं होता, लेकिन खासकर डायबिटीज के पेशेंट्स को जंक फूड से दूरी बनाकर रखनी चाहिए। इनके सेवन से डायबिटीज का खतरा और बढ़ जाता है। अगर डायबिटीज को कंट्रोल में रखना चाहते हैं तो वसायुक्त आहार से परहेज करें। डायबिटीज के पेशेंट्स को आम, केला, लीची जैसे फलों से भी दूरी बनाकर करना चाहिए क्योंकि इनमें शुगर बहुत ज्यादा मात्रा में होती है। इनके सेवन से डायबिटीज का खतरा बढ़ता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper