फरीदाबाद पुलिस ने किया एक सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, 5 आरोपी गिरफ्तार

फरीदाबाद: एक कॉल पर लड़कियां सप्लाई करने वाले गिरोह के 5 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस को पता चला था कि कुछ लोग कार में सेक्स रैकेट चला रहे हैं। उनका कोई ठिकाना नहीं है। पैसे लेकर किसी भी होटल में चले जाते थे। आरोपी लड़कियों से फोन से ही संपर्क करते हैं। मामले में पुलिसकर्मी ने खुद कस्टमर बनकर कॉल की। कॉल पर उसकी एक युवक से बात हुई और उसने फोटो भेजकर लड़की सिलेक्ट करने को कही। इसके बाद आरोपी महिला तीन युवतियों के साथ कार में आई। पुलिसकर्मी ने उसे कस्टमर बनकर पैसे दिए और इशारा मिलते ही टीम से सभी को गिरफ्तार कर लिया।

थाना एनआईटी प्रभारी सुनीता ने बताया कि गिरफ्तार महिलाएं पलवल, दिल्ली, यूपी के कानपुर और राजस्थान के जयपुर की रहने वाली हैं। क्राइम ब्रांच टीम ने थाना एनआईटी की टीम के साथ कार्रवाई की। सूचना मिलने के बाद आरोपी से मुख्य सिपाही जवाहर ने बात की। आरोपी ने लड़की भेजने के लिए होटल के पास 10 मिनट में आने को कहा। सिपाही सादे कपड़ों में था। मौके पर कुछ समय बाद एक कार आकर रुकी। इसमें बैठे शख्स ने फोन कर मुख्य सिपाही को अपने पास बुलाया और 6000 रुपये देने की बात कही।

सिपाही ने 2000 के 3 नोट सामने वाली सीट पर बैठी महिला को दिए। महिला ने 2000 रुपये ड्राइवर को दिए और 4000 रुपये अपने पास रख लिए। मुख्य सिपाही ने टीम को इशारे से बुलाया। इसके बाद मौके से ड्राइवर प्रेम व 4 महिलाओं को काबू कर लिया। आरोपियों को थाना एनआईटी में ले जाकर वेश्यावृति के आरोप में केस दर्ज कर गिरफ्तार किया गया है। सामने आया कि आरोपी करीब 5 महीने से इस काम को कर रहे है। आरोपी अपने ग्राहकों से फोन से संपर्क करते है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper